सर्जिकल स्‍ट्राइक ने 200 से ज्‍यादा आतंकियों को घुसपैठ से रोका!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। एलओसी के पास इंडियन आर्मी की सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स की खबरें अब दुनियाभर में हलचल मचा रही है। आर्मी की ओर से आधिकारि‍क तौर पर कहा गया है कि एलओसी पर पिछले एक हफ्ते से नजर रखी जा रही थी। 

uri-terror-attack-indian-army-surgical-strikes

पढ़ें-चार घंटे और आर्मी ने खत्‍म किए 38 आतंकी

पाक से मिल रहे थे आदेश

जिन सात कैंप्‍स को इंडियन आर्मी ने निशाना बनाया है उनमें 25 से 30 आतंकी मौजूद थे। अगर अंदाजा लगाया जाए तो फिर कम से कम 200 ऐसे आतंकियों को सेना ने रोका जो घुसपैठ की फिराक में थे।

सूत्रों की ओर से जानकारी दी गई है कि इंटेलीजेंस ब्‍यूरो की मदद से और उनके अनुमान के मुताबिक आतंकी इन कैंपों में ग्रुप बनाकर दाखिल होने का इंतजार कर रहे थे।

इन सभी आतंकियों को पाकिस्‍तान में बैठे उनके आकाओं से आदेश मिल रहे थे ताकि वह जम्‍मू कश्‍मीर में घुसपैठ कर सकें।

पढ़ें-इंडियन आर्मी की सर्जिकल स्‍ट्राइक को पाक ने बताया साधारण फायरिंग

सूरज ढलने के बाद शुरू और उगने से पहले खत्‍म

इसके बाद सेना ने रणनीति के तहत सर्जिकल स्‍ट्राइक को अंजाम दिया। पूरे ऑपरेशन में नेशनल सिक्‍योरिटी एडवाइजर (एनएसए) अजित डोवाल भी इस ऑपरेशन पर नजर बनाए हुए थे।

जब फोर्सेज एलओसी के उस पार पहुंच गईं और कैंपों को तबाह करने के बाद डीजीएमओ को आधिकारिक तौर पर जानकारी दी गई। सूरज ढलने के बाद ऑपरेशन शुरू हुआ और सूरज उगने से पहले इसे खत्‍म कर दिया गया।

पढ़ें-जानिए क्‍या होता है सर्जिकल स्‍ट्राइक

हर तरह के ऑपरेशन के लिए तैयार आर्मी

सूत्रों का कहना है कि जो आतंकी कैंपों में मौजूद थे वे कश्‍मीर के हालातों का फायदा लेने की फिराक में थे। इंडियन आर्मी हर तरह की स्थिति पर नजर बनाए हुए है और हो सकता है कि आगे आने वाले समय में भी इस तरह के ऑपरेशन चलाए जाएं। फिलहाल जो ऑपरेशन बुधवार को चलाया गया था वह खत्‍म हो चुका है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Surgical strikes across LoC means the army successfully prevented the infiltration of at least 200 terrorists.
Please Wait while comments are loading...