• search

नाबालिग पत्नी से शारीरिक संबंध पर फ़ैसले से क्या बदलेगा?

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    सुप्रीम कोर्ट
    Getty Images
    सुप्रीम कोर्ट

    सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया है. फैसले के मुताबिक़ 18 साल से कम उम्र की पत्नी के साथ शारीरिक संबंध रेप कहलाएगा.

    कोर्ट ने कहा है कि 18 साल से कम उम्र की पत्नी एक साल के अंदर शिकायत कर सकती है.

    क्या है इस फ़ैसले के मायने

    सुप्रीम कोर्ट में ये याचिका 'इंडिपेन्डेंट थॉट' नाम की संस्था ने दायर की थी. ये संस्था बच्चों के अधिकारों से जुड़े क़ानून पर काम करती है. 2013 में ये मामला कोर्ट पहुंचा था.

    'इंडिपेन्डेंट थॉट' के वकील ह्रदय प्रताप सिंह ने बीबीसी को बताया, "फ़ैसले के मुताबिक़ 18 साल तक की शादीशुदा लड़की शादी के एक साल तक अपने शारीरिक यौन संबंध के ख़िलाफ़ शिकायत कर सकती है. और उसे रेप माना जाएगा. पहले के कानून में उम्र की सीमा 15 साल थी."

    पहले क्या थी स्थिति

    आईपीसी की धारा 375 सेक्शन 2 में रेप को परिभाषित किया है. इसके मुताबिक 15 से 18 साल की पत्नी के साथ यौन संबंध को रेप की परिभाषा से बाहर रखा गया था.

    'इंडिपेन्डेंट थॉट' के वकील के मुताबिक, "पूरे मामले को कोर्ट इसलिए लेकर गए थे क्योंकि देश के अलग-अलग क़ानून में बच्ची को अलग-अलग तरीक़े से परिभाषित किया गया है."

    बाल यौन शोषण पर देश में पोक्सो क़ानून है.

    पोक्सो का मतलब है प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस.

    10 साल की बच्ची ने क्यों बनाया ख़ुद के रेप का वीडियो?

    रेप
    AFP
    रेप

    इस क़ानून के मुताबिक़ 18 साल से कम उम्र के बच्चों से किसी तरह का शारीरिक संबंध क़ानून के दायरे में आता है.

    यानी पोक्सो क़ानून में किशोरी को परिभाषित करते हुए उसकी उम्र 18 साल बताई गई है. उसी तरह से जुविनाइल जस्टिस एक्ट में भी किशोर-किशोरियों की परिभाषा भी 18 साल बताई गई है.

    लेकिन केवल आईपीसी की धारा 375 सेक्शन 2 में ही किशोरी की परिभाषा अलग थी.

    'रेप पीड़ित के पास विरोध का अधिकार नहीं'

    फ़ाइल फोटो
    Getty Images
    फ़ाइल फोटो

    इन तमाम विसंगतियों के बीच बच्ची से जुड़े सभी क़ानून में एकरूपता लाने के लिए 'इंडिपेन्डेंट थॉट' ने ये याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी.

    हालांकि अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि इस मामले में शिकायत का अधिकार किसको होगा.

    'इंडिपेन्डेंट थॉट' के वकील ह्रदय प्रताप सिंह के मुताबिक, "अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि ऐसी सूरत में शिकायत का अधिकार किस-किस को होगा. इस फैसले की कॉपी आने के बाद इस पर ज्यादा स्पष्टता होगी."

    10 साल की भांजी का दूसरे मामा ने किया था रेप

    18 साल से कम उम्र में शादी

    देश के कई इलाकों में आज भी लड़कियों की शादी 18 साल से कम उम्र में हो जाती है.

    2016 के नेशनल फेमिली हेल्थ सर्वे के मुताबिक देश में तकरीबन 27 फीसदी लड़कियों की 18 साल की उम्र के पहले शादी हो जाती है.

    2005 के नेशनल फेमिली हेल्थ सर्वे में ये आंकड़ा तकरीबन 47 फीसदी था.

    यानी पिछले एक दशक में 18 साल की उम्र की लड़कियों की शादी में 20 फ़ीसदी की गिरावट आई है.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Supreme Court has given a major decision on physical relations with a minor wife

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X