• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'चाकू की नोक पर रेप करनेवाले के साथ लिव-इन में नहीं रहा जाता...', SC ने 20 साल पुराने केस में आरोपी को किया बरी

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने 20 साल पुराने मामले पर सुनवाई करते हुए आज बलात्कार और धोखा देने के आरोपी को बरी कर दिया है। जस्टिस नरिमन, जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस इंदिरा बनर्जी की बेंच ने सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी करते हुए शख्स को सभी आरोपों से मुक्त कर दिया कि कोई भी महिला, जिसका चाकू की नोक पर यौन शोषण हुआ हो वह आरोपी के साथ चार साल तक लिव-इन रिलेशनशिप में नहीं रहेगी और ना ही उसे लव लेटर्स लिखेगी।

20 साल बाद रेप केस से बरी हुआ शख्स

20 साल बाद रेप केस से बरी हुआ शख्स

दरअसल, 20 साल पहले एक महिला ने आरोपी के खिलाफ चाकू की नोक पर रेप करने और धोखा देने की शिकायत दर्ज कराई थी। इस मामले में ट्रायल कोर्ट और झारखंड हाई कोर्ट ने उसे दोषी माना था, हालांकि सुप्रीम कोर्ट का रुख करने के बाद अब शख्स को सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया है। इस बीच महिला ने कोर्ट में लव लेटर्स लिखने की बात को नकारा था, जबकि युवक ने सबूत के तौर पर उन्हें कोर्ट के सामने पेश किया था।

कोर्ट ने लड़की के आरोप पर खड़े किए सवाल

कोर्ट ने लड़की के आरोप पर खड़े किए सवाल

सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि लव लेटर्स में लिखे गए बातों को देखकर साफ पता चलता है कि लड़का भी उस समय प्यार में था और संबंध बनाने के लिए लड़की को धोखा नहीं दे रहा था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लड़की ने अपने आरोप में साल 1995 की घटना का जिक्र किया है, जबकि उसने 1999 में लड़के के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। कोर्ट ने इस पर भी सवाल खड़े किए हैं।

आरोपी के घर जाकर रही थी लड़की

आरोपी के घर जाकर रही थी लड़की

महीला ने आरोप लगाया था कि लड़के ने उससे शादी का वादा कर कहीं और रिश्ता पक्का कर लिया। जबकि कोर्ट ने पाया कि दोनों के धर्म अलग होने की वजह से शादी में दिक्कत आई, लड़की के घर वाले शादी चर्चा में कराने पर अड़े हुए थे वहीं लड़के के घर वाले चाहते थे कि शादी मंदिर में हो। 20 साल पुराने इस मामले पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सबूतों से साफ पता चलता है कि दोनों लंबे समय से रिश्ते में थे, यहां तक कि लड़की आरोपी के घर जाकर भी रही थी। लड़की के आरोप से यह भी साबित नहीं होता कि लड़के ने संबंध बनाने के लिए प्यार और शादी का झूठा वादा किया था।

यह भी पढ़ें: पटना एम्स में तैनात महिला से रेप, पीड़िता ने आरोपित पर लगाया बेटे से भी गंदा काम करने का आरोप

English summary
Supreme Court acquits accused in 20-year-old physically assault concern
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X