• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोनू सूद ने आधी रात में एक कॉल पर बेंगलुरु में कोरोना मरीजों को ऑक्‍सीजन सिलेंडर दिलवाकर बचाई जान

|

बेंगलुरु, 5 मई: कोरोना महामारी की दूसरी लहर में भी जरूरतमंदों के मसीहा बॉलीवुड एक्‍टर सोनू सूद और उनकी टीम लोगों की मदद करने में जुटी हुई है। सरकारें अपने यहां कोरोना से होने वाजी मौतों के लिए एक दूसरे पर आरोप मढ़ रहे हैं वहीं सोनू सूद कोरोना संक्रमितों की जान बचाने में जुटे हुए हैं। मुंबई, दिल्‍ली के बाद अब सोनू सूद बेंगलुरु के एक अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन सिलेंडर का इंतजाम करवाकर कई मरीजों की जान बचाई है।

sonusood

बेंगलुरु के ARAKअस्पताल में मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर खत्‍म होने के कारण दो मरीजों की जान चली गई उसके बाद सोनू सूद की टीम को आधी राते में कॉल मिली जिसके बाद व्यवस्था करने के लिए बेंगलुरु से एसओएस कॉल आने के बाद अभिनेता सोनू सूद की टीम हरकत में आ गई।

अभिनेता सोनू सूद ने सोमवार को अपनी टीम के साथ बेंगलुरु के एआरएके अस्पताल में ऑक्सीजन प्रदान करने के लिए पूरी रात काम किया। अगर सोनू और उनकी टीम ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती तो कम से कम 20-22 जीवन ऑक्सीजन सिलेंडर न मिलने के कारण न बच पाता।

मंगलवार को सोनू सूद चैरिटी फाउंडेशन की टीम के एक सदस्य ने यरहंका ओल्ड टाउन के इंस्पेक्टर एमआर सत्यनारायण ने कॉल करके एआरएके अस्पताल की स्थिति के बारे में बताया। सोनू सूद की टीम को इंस्‍पेक्‍टर ने बताया कि ऑक्सीजन का स्टॉक नहीं होने के कारण मरीजों के जीवन पर खतरा मंडरा रहा था। टीम जल्दी से हरकत में आई और आधी रात को एक सिलेंडर की व्यवस्था की। उन्होंने अपने सभी संपर्कों को जगाया और उन्हें स्थिति की आपातकालीन स्थिति के बारे में सूचित किया, और लोगों ने मदद करने के लिए लोगों को भेजा।

कुछ घंटों के भीतर, सोनू सूद की टीम द्वारा 15 और ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कर दी। इस सोनू सूद ने कहा "यह पूरा टीमवर्क था और हमारे साथी देशवासियों की मदद करने की इच्छा है। जैसे ही हमें इंस्पेक्टर सत्यनारायण का फोन आया,और मिनटों के भीतर कार्रवाई की। टीम ने पूरी रात बिना कुछ सोचे-समझे अस्पताल में मदद करने के लिए पूरी रात बिताई। सूद ने कहा कि ऑक्सीजन सिलिंडर पाने के लिए कोई देरी होती तो गड़बड़ हो सकती थी।

सोनू सूद ने कहा "मैं हर किसी का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं, जिन्होंने कल रात इतने लोगों को बचाने में मदद की। यह मेरी टीम के सदस्यों का जज्‍बा है जो मेरे साथ आगे भी साथ-साथ चलना चाहती हैं और लोगों के जीवन में बदलाव लाने की कोशिश कर रही हैं।" मुझे हश्मथ पर बहुत गर्व है जो पूरी टीम और पूरी टीम के साथ मेरे संपर्क में था जिन्होंने उनकी मदद की। "

सीपीआई सत्यनारायण का समर्थन भी अमूल्य था। उन्होंने और पुलिस ने स्थिति को इतनी अच्छी तरह से संभाला। एक बिंदु पर, एक मरीज को स्थानांतरित किया जाना था और कोई एम्बुलेंस चालक नहीं था, इसलिए पुलिस ने अपने कंधों पर जिम्मेदारी ली और मरीज को अस्पताल पहुंचाया।

सोनू की टीम में, प्रत्येक व्यक्ति को एक विशेष काम दिया गया है। लीड्स लेने के लिए एक व्यक्ति वहां है; एक और इन सुरागों की पुष्टि करता है। एक अन्य व्यक्ति बिस्तर दिलवाने के लिए नगर निगमों से संपर्क बनाए हुए है। वहीं चौथा व्यक्ति आपातकालीन एसओएस सेवाओं की देखभाल करता है और पांचवां व्यक्ति राजनीतिक और संबंधित विभाग के कार्यों की देखभाल करता है।

English summary
Sonu Sood's foundation arranges oxygen cylinder in midnight saves Corona patients in Bengaluru
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X