• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोनिया गांधी बोलीं- कोरोना संकट में "मैं बनाम आप" की बहस बचकानी, वैक्‍सीन के लिए आयुसीमा 25 साल की जाए

|

नई दिल्‍ली, अप्रैल 17: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि वह देश भर में कोरोनोवायरस बीमारी से निपटने के लिए अपनी रणनीति तैयार करें, क्योंकि कोविड -19 का इलाज में उपयोग होने वाली दवाओं और चिकित्‍सीय सुविधाओं की भारी कमी है। इसके साथ ही सोनिया गांधी ने कहा टीकाकरण के लिए आयुसीमा को घटाकर 25 साल किया जाना चाहिए और अस्थमा, शुगर समेत अन्य बीमारियों से ग्रसित युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाया जाना चाहिए।

    CWC Meeting में Sonia Gandhi का आरोप, सुझाव देने पर विपक्ष का मजाक उड़ाते हैं मंत्री | वनइंडिा हिंदी

    soniya

    सोनिया गांधी ने कहा हमारे मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री से बात की है और संबंधित मंत्री को समय-समय पर राहत के लिए अनुरोध किया है। राज्यों के पास कुछ दिनों के टीके शेष है तो कुछ राज्‍यों में ऑक्सीजन या वेंटिलेटर की भारी कमी है लेकिन वो नहीं दिया गया है। इस मुद्दे पर सरकार की ओर से चुप्पी साध ली गई है। इसके विपरीत कुछ अन्य राज्यों ने अधिमान्य उपचार / राहत प्राप्त हो रहा है। उन्‍होंने कहा "विपक्ष के रचनात्मक सुझावों को सुनने के बजाय, केंद्रीय मंत्रियों को उन सुझावों को देने के लिए विपक्ष के नेताओं पर हमला करने के लिए सेवा में दबाया जाता है। उन्होंने कहा, "मुझे बनाम आप" की बहस बचकानी है और पूरी तरह अनावश्यक है।

    pm

    सोनिया गांधी कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में ये बात कही। इस बैठक में पार्टी के पूर्व प्रमुख राहुल गांधी, महासचिव और पार्टी के राज्य प्रभारी शामिल थे। इस बैठक में देश में मौजूदा कोविड-19 स्थिति पर विशेष रूप से चर्चा की और वायरस के प्रसार को रोकने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता को जताया गया। सोनिया गांधी ने मुख्यमंत्रियों के साथ अपनी बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे गए अपने पत्र के बारे में बात की। कांग्रेस शासित राज्यों ने केंद्र को ध्‍यान देने की बात कही है। सोनिया गांधी ने कहा 'मैंने उनसे मिलने के बाद प्रधानमंत्री को लिखा है।

    टीकाकरण के लिए आयुसीमा को घटाकर 25 साल किया जाना चाहिए

    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 25 साल और उससे अधिक उम्र के टीकाकरण को कम करने के बारे में अपनी बात दोहराई, "अस्थमा, एनजाइना, मधुमेह, किडनी और लीवरकी बीमारियों और अन्य समान बीमारियों के जोखिम वाले सभी युवा व्यक्तियों को वैक्‍सीन देना शुरू करने की मांग की। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड -19 को रोकने और इलाज के लिए आवश्यक सभी उपकरणों, दवाओं और समर्थन पर गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) को मुफ्त किया जाना चाहिए।

    जीवनरक्षक सेवाओं पर जीएएसटी लगाना अमानवीय

    सोनिया गांधी ने कहा "यह गंभीर चिंता का विषय है कि जीवन रक्षक दवाएं जैसे रेमेडिसविर आदि और मेडिकल ऑक्सीजन भी अन्य बुनियादी सप्लीमेंट GST 12 फीसदी कर के अधीन हैं। यहां तक ​​कि बुनियादी उपकरण जैसे ऑक्सीमीटर और जीवन रक्षक महत्वपूर्ण उपकरण जैसे वेंटिलेटर पर 20 प्रतिशत जीएसटी है। वर्तमान समय में यह अमानवीय बात है।

    https://hindi.oneindia.com/photos/aisha-sharma-hot-pictures-60931.htmlआयशा शर्मा की इन तस्वीरों को देख तन-बदन में दौड़ जाएगी सुरसुरी

    English summary
    Sonia Gandhi said- ‘Me vs you debate childish debate in Corona's horrific crisis, center focus on battling Covid-19
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X