• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Solar Eclipse: देश के इन शहरों में कल दिखाई देगा 'रिंग ऑफ फायर', सरकार ने बताए नाम

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण कल यानी 21 जून को लगेगा। इस दौरान रिंग ऑफ फायर के रूप में एक अद्भुत नजारा दिखाई देगा। इसे लेकर विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा है कि ये एक दुर्लभ खगोलीय घटना है और साल का पहला सूर्य ग्रहण होगा। ये रविवार को दिखाई देगा और इसे रिंग ऑफ फायर के नाम से जाना जा रहा है। साल का पहला सूर्य ग्रहण ग्रीष्म संक्रांति में लग रहा है, जो उत्तरी गोलार्ध में सबसे लंबा दिन है।

    Surya Grahan 21 June 2020: देश के इन शहरों में दिखेगा सूर्यग्रहण | Solar Eclipse | वनइंडिया हिंदी

    solar eclipse june 2020 time in india, surya grahan timing, surya grahan, Solar Eclipse 2020, 21 june 2020 grahan time, surya grahan 2020, surya grahan timings 2020 june, solar eclipse june 2020 time in india, ministry of science technology, surya grahan timings 2020, solar eclipse time, solar eclipse 2020 time, ring of fire, solar eclipse, surya grahan june 2020, सूर्य ग्रहण, सोलर एक्लीप्स, सूर्य ग्रहण 2020, रिंग ऑफ फायर, सूर्य ग्रहण समय, सूर्य ग्रहण का समय क्या है, रिंग ऑफ फायर कैसे देखें, रिंग ऑफ फायर का समय, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय

    किन शहरों में देखा दिखाई?

    मंत्रालय ने बताया कि अनूपगढ़, सूरतगढ़, सिरसा, जाखल, कुरुक्षेत्र, यमुनानगर, देहरादून, तपोवन और जोशीमठ में रहने वाले लोग ग्रहण को देख पाएंगे। वहीं शेष भारतीय आंशिक ग्रहण देख सकते हैं। बता दें जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाएगा तब सूर्य की आकृति एक कंगन की तरह चमकीली नजर आएगी। इसे रिंग ऑफ फायर सूर्यग्रहण भी कहा जा रहा है। यह पूरे भारत में दिखाई देगा। भारत के अलावा ये ग्रहण एशिया के और भी कई हिस्सों में देखने को मिलेगा।

    ग्रहण को अफ्रीका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकेगा। समय की बात करें तो सूर्य ग्रहण 21 जून की सुबह 9.15 बजे शुरू हो जाएगा और दोपहर 3.04 मिनट तक ये समाप्त होगा। वहीं ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव दोपहर 12.10 बजे देखने को मिलेगा। बता दें सूर्य ग्रहण कई तरह के होते हैं, जिसमें सबसे प्रमुख पूर्ण सूर्य ग्रहण, आंशिक सूर्य ग्रहण और वलयाकार सूर्य ग्रहण को माना जाता है। ये सूर्य ग्रहण वलयाकार सूर्य ग्रहण है, जिसे एनुलर सूर्य ग्रहण भी कहा जाता है।

    जब पूर्ण सूर्य ग्रहण लगता है तो चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से छिपा लेता है। वहीं जब आंशिक सूर्य ग्रहण लगता है तो चंद्रमा से सूर्य का कोई एक हिस्सा छिप जाता है। इसके अलावा जब वलयाकार सूर्य ग्रहण लगता है तो चंद्रमा पूरी तरह से सूर्य को ढंक नहीं पाता है। जिससे सूरज के किनारों से एक रोशनी पृथ्वी पर पड़ती है। इसी कारण सूर्य ग्रहण के समय आसमान में सूर्य 'रिंग ऑफ फायर' के रूप में दिखाई देगा। ये एक अद्भुत खगोलीय घटना होगी। इस स्थिति में चंद्रमा धरती से काफी दूर होता है।

    Surya Grahan 2020: 'रिंग ऑफ फायर' के रूप में कल दिखाई देगा सूर्य ग्रहण, ऐसे देखें ये अद्भुत नजाराSurya Grahan 2020: 'रिंग ऑफ फायर' के रूप में कल दिखाई देगा सूर्य ग्रहण, ऐसे देखें ये अद्भुत नजारा

    English summary
    solar eclipse ministry of science technology tell about the names of cities where people can see ring of fires
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X