• search

बलात्कार की शिकार छह साल की बच्ची की मौत

By Bbc Hindi
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    बच्ची
    iStock
    बच्ची

    आठ दिन तक लगातार संघर्ष के बाद ओडिशा के कटक ज़िले के सालेपुर इलाक़े में बलात्कार की शिकार हुई छह साल की नाबालिग़ बच्ची ने आख़िरकार रविवार शाम दम तोड़ दिया.

    कटक के एस.सी.बी मेडिकल कॉलेज के सीनियर सर्जन भुवनानंद महाराणा ने पत्रकारों को बताया की बच्ची का इलाज कर रहे 13 सदस्यीय डॉक्टरों के दल की तमाम कोशिशों के बावजूद पीड़िता ने शाम क़रीब साढ़े पांच बजे दम तोड़ दिया.

    उन्होंने कहा, "21 अप्रैल को जब पीड़िता यहाँ भर्ती हुई, उस समय उसकी हालत बेहद नाज़ुक थी. उसके मस्तिष्क में ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं हो पा रही थी, उसे वेंटीलेटर पर रखा गया था. आख़िरकार शाम के 5.30 बजे हृदयगति रुक जाने से उसकी मौत हो गई."

    बच्ची के इलाज में जुटे डॉक्टरों के दल ने दो दिन पहले ही उसे 'ब्रेन-डेड' घोषित कर दिया था.

    बच्ची के शव को उसके परिवार के हवाले करने से पहले कड़ी सुरक्षा के बीच और सालेपुर के अतिरिक्त तहसीलदार और मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में शव का पोस्टमॉर्टम किया गया.

    घटना

    21 अप्रैल को सालेपुर के निकट जगन्नाथपुर गांव में एक 28 वर्षीय विवाहित युवक ने स्थानीय स्कूल के बरामदे में इस बच्ची के साथ कथित तौर पर बलात्कार करने के बाद उसकी गला घोंटकर हत्या करने की कोशिश की थी और उसे मृत समझकर वहीं छोड़ दिया था.

    मुहम्मद मुश्ताक नाम का यह युवक कथित तौर पर चॉकलेट का लालच देकर बच्ची को वहां ले गया था और फिर उसके साथ बलात्कार किया था.

    बच्ची
    Getty Images
    बच्ची

    बच्ची जब काफ़ी देर तक घर नहीं लौटी तो उसके घरवालों ने उसकी तलाश करते हुए आख़िरकार उसे स्कूल के बरामदे में बेहोश पाया और उसे तत्काल स्थानीय अस्पताल ले गए. बच्ची की गंभीर हालत के मद्देनज़र उसे तत्काल कटक के एस.सी.बी. मेडिकल कॉलेज में भेज दिया गया था जहां आई.सी.यू में विशेषज्ञ डॉक्टरों की देखरेख में उसका इलाज चल रहा था.

    घटना के कुछ ही घंटों बाद 22 अप्रैल की सुबह अभियुक्त मुश्ताक को गिरफ़्तार कर लिया गया था. बच्ची की मौत के बाद उसके ख़िलाफ़ लगी आई.पी.सी. और पोक्सो एक्ट की कई धाराओं के साथ हत्या की धारा को भी जोड़ दिया गया है.

    कटक (ग्रामीण) के एस.पी. माधवानन्द मिश्र ने कहा है कि बहुत जल्द अभियुक्त के ख़िलाफ़ चार्जशीट दायर की जाएगी.

    पोस्टर
    BBC
    पोस्टर

    कल रात बच्ची का शव जगन्नाथपुर गांव पहुंचने के बाद बहुत ही ग़मगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. किसी भी गड़बड़ी के मद्देनज़र गांव में भारी पुलिस बंदोबस्त किया गया था.

    सोमवार को विधानसभा में घटना के बारे में वक्तव्य रखते हुए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बच्ची की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया और आश्वासन दिया कि बलात्कारी को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाएगी. साथ ही उन्होंने पीड़िता के परिवार के लिए पांच लाख रुपये की सहायता राशि की घोषणा भी की.

    वहीं, बच्ची की मौत के बाद इस घटना को लेकर राजनीति गरमा रही है. सोमवार को पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साहू के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल पीड़िता के परिवार से मिला.

    राजधानी भुवनेश्वर में बीजेपी ने इस मामले को लेकर प्रदर्शन किया और राज्य सरकार की जमकर निंदा की.

    ये भी पढ़ें:

    दुनिया में बच्चियों के साथ रेप की सज़ा क्या है?

    भारत में बच्चों को रेप के बारे में कैसे बताएं?

    कोई बेटा माँ का और भाई बहन का रेप क्यों करता है?

    (बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Six-year-old girl dies of rape

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X