• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जो लोग टैक्स नहीं भरते हैं, उनके खाते में सरकार 7500 रुपए डाले: सीताराम येचुरी

|

नई दिल्ली। मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में केंद्र सरकार के नीतियों पर सवाल उठाया है। उन्होंने सरकार के मांग की है कि भारत सरकार द्वारा घोषित 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज को और बढ़ाया जाना चाहिए। इसके अलावा उन परिवारों के बैंक खाते में सीधे 7,500 रुपये ट्रांसफर किया जाना चाहिए जो टैक्स नहीं भर सकते लेकिन कोरोना संकट में जरूरमंदों को खाना खिला रहे हैं।

Sitaram Yechury said coronavirus relief package should be 5 percent of GDP

भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रह हैं, इस बीच दिल्ली और बांद्रा से सामन आई प्रवासी मजदूरों की तस्वीर ने देश को चिंता में डाल दिया है। कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए सीताराम येचुरी ने दूसरे देशों का उदाहरण देते हुए केंद्र से कहा है कि कोरोना के खिलाफ जंग में भारत में कम से कम जीडीपी यानी सकल घरेलू उत्पाद का पांच फीसदी खर्च किया जाना चाहिए। वरिष्ठ वामपंथी नेता ने कहा, कोरोना संटक में जहां मलेशिया जैसा देश अपने लोगों को बचाने के लिए अपने जीडीपी का 16 फीसदी खर्च कर रहा है वहीं भारत ने जो राहत पैकेज का ऐलान किया है वह जीडीपी का फीसदी भी नहीं है।

केंद्र सरकार के घेरते हुए देश में स्वास्थ्यकर्मियों पर हो रहे हमलों का मामला भी उठाया है। उन्होंने सोशल नेटवर्किंग फेसबुक पर पोस्ट एक वीडियो शेयर किया है जिसके माध्यम से उन्होंने डॉक्टरों और नर्सों की सुरक्षा का मासला उठाया है। मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के बाद सीताराम येचुरी ने कहा, कोरोना वायरस से सीधी लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा उन्हें पर्याप्त पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्वीमेंट दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, अगर डॉक्टरों और नर्सों को इस महामारी ने अपनी चपेट में लिया तो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई कमजोर हो जाएगी।

कोरोना वॉरियर्स को बेहतर सुविधा देने को लेकर दायर याचिका पर SC में सुनवाई पूरी, सरकार ने दिया ये जवाब

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sitaram Yechury said coronavirus relief package should be 5 percent of GDP
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X