• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नेपाली प्रधानमंत्री पर भड़की शिवसेना, ओली को 'हिंदूद्रोही' बताया

|

नई दिल्ली- नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के अयोध्या वाले बयान पर शिवसेना ने जोरदार पलटवार किया है। पार्टी ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए नेपाली पीएम पर निशाना साधा है और उनके चीन के कठपुतली बन जाने का आरोप लगाया है। सामना में यह भी लिखा गया है कि चीन के प्रभाव में आकर नेपाल, भारत के साथ अपने धार्मिक और सांस्कृतिक संबंधों को भूल चुका है। शिवसेना ने नेपाली पीएम ओली को हिंदूद्रोही तक करार दिया है। गौरतलब है कि नेपाल के आधिकारिक रूप से इस मामले में अपने पीएम के बयान से किनारा करने के बावजूद भारत में हर वर्ग के लोगों में बहुत ज्यादा नाराजगी है।

जानिए क्या है अयोध्या के राम मंदिर का अबतक का पूरा इतिहास

नेपाली पीएम ओली को बताया चीन की कठपुतली

नेपाली पीएम ओली को बताया चीन की कठपुतली

असली अयोध्या नेपाल में होने के नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा के बेतूके बयान पर शिवसेना ने जोरदार हमला किया है। हालांकि, नेपाल आधिकारिक तौर पर खुद अपने प्रधानमंत्री के बयान से पीछे हट चुका है, लेकिन शिवसेना ने इसके बावजूद अपनी पार्टी के मुखपत्र 'सामना' के जरिए नेपाली प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली है। बुधवार को शिवसेना ने कहा है कि वो तो यह भी दावा कर सकते हैं कि मुगल शासक बाबर भी नेपाली था। सामना के संपादकीय में महाराष्ट्र की सत्ताधारी पार्टी ने लिखा है कि भगवान राम तो पूरे विश्व के हैं, लेकिन अयोध्या में जहां भगवान का जन्म हुआ, वह भारत की है। सामना के संपादकीय में नेपाली पीएम ओली को चीन की कठपुतली बताया गया है; और कहा गया है कि नेपाल चीन के करीब जाने के बाद भारत के साथ धार्मिक और सांस्कृतिक संबंधों को भुला चुका है।

ओली कल को बाबर को भी नेपाली बताएंगे-शिवसेना

ओली कल को बाबर को भी नेपाली बताएंगे-शिवसेना

सामना के मुताबिक, 'ओली ने नेपाल और हिंदू संस्कृति को चीन के सामने समर्पण कर दिया है।' सामना लिखता है कि प्राचीन शास्त्रों में वर्णन है कि सरयू नदी अयोध्या में बहती है, जो कि उत्तर प्रदेश में है न कि नेपाल में और सरयू नदी भी राम मंदिर के लिए लड़ने वाले कार सेवको के रक्त से लाल हो चुकी थी। सामना के संपादकीय के मुताबिक, 'आज उन्होंने अयोध्या और भगवान राम को नेपाली बताया है। कल वो बाबर के भी नेपाली होने का दावा करेंगे। भगवान राम पूरे विश्व के हैं, लेकिन राम जन्मभूमि अयोध्या सिर्फ भारत की है।'

नेपाली पीएम ओली को 'हिंदूद्रोही' बताया

नेपाली पीएम ओली को 'हिंदूद्रोही' बताया

शिवसेना ने भारत-विरोधी कदम उठाने के लिए भी ओली पर हमला किया है और उन्हें हिंदूद्रोही तक कह दिया है। सामना में लिखा गया है, 'अगर भगवान राम आज नेपाल में होते तो जिस तरह से उन्होंने रावण का वध किया और उसके पापों का नाश किया, वह हिंदूद्रोही ओली के मामले में भी ऐसा ही करते।' असल में सोमवार को नेपाली पीएम ओली ने दावा किया था कि असली अयोध्या भारत में नहीं, बल्कि दक्षिण नेपाल के ठोरी में है, जहां भगवान राम का जन्म हुआ था। उनके इस बयान की नेपाल में भी कड़ी आलोचना हुई और कई नेपाली नेताओं ने उनसे इस विवादास्पद बयान को वापस लेने की मांग की। बाद में नेपाली विदेश मंत्रालय ने आधिकारिक बयान जारी करके पीएम ओली के बयान से किनारा करने की कोशिश की थी।

बाबरी पक्षकारों में भी ओली से नाराजगी

बाबरी पक्षकारों में भी ओली से नाराजगी

बड़ी बात ये है कि ओली के बयान से भारत और नेपाल के हिंदुओं में गुस्सा भड़कना तो लाजिमी है, लेकिन रामनगरी अयोध्या के मुस्लिम नेताओं ने भी उनके बयान पर सख्त आपत्ति जताई है। बाबरी मस्जिद आंदोलन से जुड़े प्रमुख पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा है, 'अगर इस मामले पर भगवान हनुमान नाराज हो जाएं तो वह अपनी गदा की एक एक चोट से ही नेपाल को तबाह कर देंगे। आखिरकार भगवान राम जहां भी जाते हैं, वो उनके साथ जाते हैं।' अंसारी के मुताबिक नेपाली पीएम को पता ही नहीं है कि अयोध्यानगरी की देश और दुनिया में क्या महत्त्व है।(तस्वीरें-फाइल)

इसे भी पढ़ें- पाकिस्तान से सीख कर चीन ने छिपाया गलवान का सच, US इंटेलिजेंस की दावा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shiv Sena lashes out at Nepali prime minister, calling Oli a 'Hindu traitor'
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X