शिंजो आबे ने जमकर की मोदी की तारीफ, चीन को लगाई कड़ी फटकार

Posted By: Amit J
Subscribe to Oneindia Hindi

अहमदाबाद। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे दो दिन की भारत यात्रा पर हैं और इस दौरान उन्होंने चीन पर प्रहार करते हुए नई दिल्ली के साथ मजबूत दोस्ती के संकेत दिए हैं। शिंजो आबे ने चीन के वन बेल्ट वन रोड (OBOR) प्रोजेक्ट में पारदर्शिता ना होने का आरोप लगाया है। आबे ने कहा, विकास नागरिकों की इच्छा के अनुसार और क्षेत्रीय संप्रभुता को ध्यान में रखकर ही किया जाना चाहिए और इसे साकार करने के लिए जापान और भारत अपने सहयोग को और मजबूत बनाएंगे।

जय इंडिया, जय जापान

जय इंडिया, जय जापान

जापानी पीएम शिंजो आबे ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन की आधारशिला के मौके पर उन्होंनें कहा कि दोनों देशों का सहयोग केवल द्विपक्षीय नहीं रहा, यह यह विशेष सामरिक और वैश्विक साझेदारी में विकसित हुआ है। भारत और जापान स्वतंत्रता, लोकतंत्र, मानव अधिकार और कानून का नियम जैसे बुनियादी मूल्यों को साझा करते हैं। आबे ने अपने भाषण में 'जय इंडिया, जय जापान' का नारा भी दिया।

क्या है जापान चीन विवाद

क्या है जापान चीन विवाद

पूर्वी चीन सागर में विवादित द्वीपों को लेकर कई बार दोनों देशों के बीच तनातनी देखने को मिली है। दरअसल पूर्वी चीन सागर पर सेंकाकू और तोंग द्वीप है, जिस पर दोनों देश अपना-अपना दावा जमाते आए हैं। फिलहाल सेंकाकू द्वीप पर जापान का कब्जा है, लेकिन चीन इसे अपना मानकर 'दियाओयु' नाम से बुलाता है। वहीं, तोंग द्वीप पर चीन ने अपना हक जमा रखा है। दोनों देश इन क्षेत्रों पर कभी जंगी जहाज तो कभी एयर क्राफ्ट लेकर आमने सामने हो चुके हैं। जापान और चीन का दूसरा बड़ा मुद्दा नॉर्थ कोरिया को लेकर भी है। नॉर्थ कोरिया लगातार अपने परमाणु ताकत बढ़ाने में लगा है और वो कई बार टेस्ट के लिए जापान की तरफ अपनी मिसाइलें दाग चुका है। जापान ने नॉर्थ कोरिया की हरकतों को बढ़ावा देने के लिए सीधे रूप से जीन को दोषी ठहराया है।

मोदी भी कर चुके हैं चीन की आलोचना

मोदी भी कर चुके हैं चीन की आलोचना

सितंबर 2014 में बतौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान की यात्रा की थी। अपने दौरे पर मोदी विस्तारवादी नीतियों की आलोचना करते हुए चीन पर प्रहार किया था। मोदी ने टोक्यो में बोलते हुए कहा था कि जब किसी देश को विकास और विस्तारवाद में से किसी एक चुनना पड़ता है तो 18वीं शताब्दी के विचार वाले देश अतिक्रमण करते हैं और समुद्रों में प्रवेश करते हैं।

यह भी पढ़ें: Japan का Ja और India का I, मिलकर Jai बनते हैं, 'जय जापान-जय भारत' : शिंजो आबे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shinzo Abe attack on China, Japan pitches for stronger ties with India
Please Wait while comments are loading...