• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जामिया में ट्रिपल तलाक पर क्यों नहीं बोल पाईं शाज़िया

By Bbc Hindi

शाज़िया इल्मी
Shazia Ilmi Twitter
शाज़िया इल्मी

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में जेएनयू छात्र उमर ख़ालिद को बोलने से रोकने पर छिड़ा हंगामा अभी थमा भी नहीं था कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से जुड़ा ऐसा ही एक मुद्दा गरमाता हुआ दिख रहा है.

16 फरवरी को दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया में ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर एक सेमिनार होना था जिसे टाल दिया गया.

बीजेपी नेता शाज़िया इल्मी ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पहले उन्हें सेमिनार में वक्ता के रूप में बुलाया गया और फिर प्रोग्राम की तारी़ख आगे बढ़ाए जाने की सूचना दी गई.

उमर ख़ालिद को लेकर डीयू में भिड़े छात्र

उमर ख़ालिद विवाद, पत्रकार भी बने निशाना

शाज़िया का दावा है कि उन्हें जामिया मिल्लिया में बोलने नहीं दिया गया. उनका कहना है कि उस सेमिनार की तारीख आगे खिसकाकर 28 फ़रवरी कर दी गई और सेमिनार का विषय भी 'ट्रिपल तलाक' से बदलकर 'महिला सशक्तिकरण' कर दिया गया.

इतना ही नहीं शाज़िया इल्मी का ये भी दावा है कि अचानक से 28 फ़रवरी के प्रोग्राम से भी वक्ताओं की लिस्ट से उनका नाम हटा दिया. इसके लिए शाज़िया यूनिवर्सिटी प्रशासन को जिम्मेदार ठहरा रही हैं.

आइसा और एबीवीपी के छात्रों में हुई झड़प

'मेरे दोस्तों को रेप की धमकी दी गई'

शाज़िया इल्मी
Shazia Ilmi Twitter
शाज़िया इल्मी

बुधवार को उन्होंने ट्वीट किया, "आयोजकों पर जामिया के वाइस चांसलर और प्रोवोस्ट ने मुझे पैनल से हटाने के लिए दबाव डाला था. उसके बाद यूनिवर्सिटी में हंगामा होने की भी चेतावनी दी गई."

सेमिनार के आयोजक 'फ़ॉरम फ़ोर अवेयरनेस नेशनल सिक्योरिटी' (एफएएनएस) ने शाज़िया को इसमें वक़्ता के रूप में आमंत्रित किया था.

'फ़ॉरम फ़ोर अवेयरनेस नेशनल सिक्योरिटी' को आरएसएस के इंद्रेश कुमार चलाते हैं.

'मंत्रीजी का दिमाग़ कौन गंदा कर रहा है, पता है'

'गुरमेहर का समर्थन करनेवाले पाकिस्तान परस्त'

शाज़िया इल्मी
Shazia Ilmi Twitter
शाज़िया इल्मी

इसके संयोजक शैलेश भट्ट ने कहा कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने शाज़िया का नाम वक़्ता से हटा दिया. सेमिनार का टॉपिक भी यूनिवर्सिटी प्रशासन ने ही बदल दिया.

हालांकि जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने शाज़िया के आरोपों से साफ तौर पर इनकार किया है.

यूनिवर्सिटी की डिप्टी मीडिया कॉर्डिनेटर सायमा सईद ने कहा, "ये प्रोग्राम न तो जामिया प्रशासन का था और न ही जामिया का कोई विभाग ही इससे जुड़ा था. किसी भी प्रोग्राम का विषय और वक्ता तय करने का अधिकार आयोजकों का होता है, जामिया की इसमें कोई भूमिका नहीं है।

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shazia Ilmi not allowed to speak on triple talaq at Jamia millia islamia delhi
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X