• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Covid 19: यूके की ट्रैवल पॉलिसी पर भड़के थरूर-जयराम, कहा-'इससे नस्लवाद की बू आती है'

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 21 सितंबर। कांग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर और जयराम रमेश इन दिनों काफी गुस्से में हैं। उनका गुस्सा निकला है यूके सरकार की भारत के लिए बनाई गई कोविड ट्रैवल नीति पर, जिसमें कहा गया है कि भारत, अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका से कोरोना का टीका लगाए गए लोगों को यूके में करीब दस दिन क्वांरटीन रहना पड़ेगा और उन्हें कोरोना टेस्ट कराना होगा।

    Britain सरकार पर भड़के Shashi Tharoor, Quarantine Rules की वजह से रद्द की UK यात्रा |वनइंडिया हिंदी
    Covid 19: यूके की ट्रैवल पॉलिसी पर भड़के थरूर-जयराम, कहा-इससे नस्लवाद की बू आती है

    थरूर को इस बात इतना गुस्सा आया है कि उन्होंने कैम्ब्रिज यूनियन में होने वाले 'द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग इवेंट' से अपना नाम वापस ले लिया है और इस बारे में एक ट्वीट भी किया है। उन्होंने यूके के न्यूज एनलिटिक एलेक्स मैकेरास के ट्वीट को कोड करते हुए लिखा कि 'पूरी तरह से वैक्सीनेटड लोगों को दस दिन क्वांरटीन में रखना सरासर गलत है, ये दूसरे देशों की कोविड पॉलिसी पर प्रश्नचिह्न लगाना है। इसी कारण मैं द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग इवेंट से अपना नाम वापस लेता हूं।'

    Covid 19: -इससे नस्लवाद की बू आती है

    थरूर की तरह राज्यसभा कांग्रेस एमपी जयराम रमेश ने भी यूके पर गुस्सा निकाला है। उन्होंने भी ट्वीट किया है कि 'ये तो बड़ा ही अजब-गजब फैसला है। इस फैसले से नस्लवाद की बू आती है। सबको पता है कि कोविशील्ड को मूल रूप से यूके में विकसित किया गया था और सीरम इंस्टीट्यूट ने उसकी आपूर्ति की, इस तरह का फैसला सिर्फ परेशानी पैदा करने वाला है।'

    यह पढ़ें: Havana Syndrome क्या है ? भारत यात्रा पर आए CIA अफसर में लक्षण मिलने की रिपोर्टयह पढ़ें: Havana Syndrome क्या है ? भारत यात्रा पर आए CIA अफसर में लक्षण मिलने की रिपोर्ट

    Covid 19: -इससे नस्लवाद की बू आती है

    आपको बता दें कि ब्रिटेन ने अपने कोरोना यात्रा नियमों में काफी चेंज किए हैं। उसने कोविशील्ड वैक्सीन पर एक तरह से उंगली उठा दी है। दरअसल यूके ने उन लोगों 'अनवैक्सीनेटेड' कैटेगरी में रख दिया है, जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन लगवाई है। यही नहीं यूके की ट्रेवल लिस्ट में रेड, एम्बर और ग्रीन कलर तीन कैटेगरी रखी गई है। इंडिया को एम्बर लिस्ट में जगह दी गई है। जिसका मतलब ये है कि जो भारतीय कोविशील्ड लगवाए हैं, उन्हें यूके में आइसोलेशन में रहना होगा और उन्हें 'अनवैक्सीनेटेड' ही माना जाएगा। यूके की इस लिस्ट से सबसे ज्यादा परेशान छात्र हैं, उन्होंने भी इसे भदभाव करार दिया है क्योंकि अमेरिका और यूरोपीय संघ के यात्रियों पर ये नियम लागू नहीं है।

    Comments
    English summary
    Shashi Tharoor and Jairam Ramesh upset with UK’s new Covid travel policy for India. they said that its Offensive and smacks of racism. here is tweets, please have a look.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X