• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बोले राकेश टिकैत, गांव नहीं जाएंगे किसान, कोरोना हुआ तो प्रदर्शन स्‍थल पर ही कराएंगे इलाज

|

नई दिल्‍ली। देश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच भी किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। आंदोलन 5 महीने से ज्‍यादा समय से चल रहा है। इस बीच दावा किया जा रहा है कि आंदोलन की वजह से सड़कों पर जाम लग रहे हैं जिससे अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन पहुंचने में देरी हो रही है। अब इस बात को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने पलटवार किया है। राकेश टिकैत ने कहा है कि बॉर्डर तो खुला हुआ है। ऐसी बातें क्‍यों कही जा रही हैं इसकी जांच होनी चाहिए। राकेश टिकैत ने कहा कि हम किसानों को यहां से जाने के लिए नहीं कहेंगे।

    Kisan Andolan : Rakesh Tikait का दावा- 2024 तक सब कुछ बेच देगी Modi Government | वनइंडिया हिंदी

    बोले राकेश टिकैत, गांव नहीं जाएंगे किसान, कोरोना हुआ तो प्रदर्शन स्‍थल पर ही कराएंगे इलाज

    एएनआई से बातचीत में टिकैत ने कहा कि हम 5 महीने से यहां हैं, अब ये हमारा गांव हो चुका है। उन्‍होंने मांग की यहां पर ही कैंप लगवाया जाए, हम यही वैक्‍सीन लगवाएंगे। हम यहां कम लोगों को रखेंगे और बैठक नहीं होगी, लोग आते जाते रहेंगे। आज हम 2 दिन के लिए हरियाणा जाएंगे।

     Coronavirus: औद्योगिक कार्यों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति पर पाबंदी, मरीजों की जान बचाने में आएगा काम Coronavirus: औद्योगिक कार्यों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति पर पाबंदी, मरीजों की जान बचाने में आएगा काम

    उन्होंने कहा कि किसान किसी भी हाल में गांव नहीं जाएंगे। अगर कोरोना हुआ तो उसका इलाज किसान यही कराएंगे। यहां से अस्पताल भी पास में है।

    English summary
    ‘Set up vaccination camp here’: Rakesh Tikait says farmers won’t vacate Delhi protest sites as Covid cases rise
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X