• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

BJP की नई टीम से बाहर हुए राहुल सिन्हा का छलका दर्द, कहा-40 साल तक पार्टी की सेवा का मिला ईनाम

|

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने अपने पार्टी के भीतर कई बदलाव किए हैं। शनिवार को बीजेपी की केंद्रीय इकाई के संगठन में फेरबदल किए गए। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी में हुए अहम बदलावों की जानकारी देते हुए पार्टी की नई टीम की घोषणा की। पार्टी ने इस बार राष्ट्रीय सचिव के पद पर कई अहम बदलाव किए, जिसके बाद पार्टी के अलग-अलग ईकाईयों ने नाराजगी की बातें भी सामने आने लगी है।

 Served BJP For 40 Years For This?: Bengal Leader Dropped In Reshuffle
    Bihar Assembly Elections 2020: BJP ने पार्टी संगठन में किए कई बड़े बदलाव | वनइंडिया हिंदी

    पार्टी में किए गए बदलाव के बाद बीजेपी की बंगाल इकाई में असंतोष का मामला सामने आया है। बीजेपी राष्ट्रीय सचिव पद से हटाए गए पार्टी के पुराने नेता राहुल सिन्हा ने वीडियो जारी कर अपनी नाराजगी जाहिर की है। पार्टी के फैसले से नाराज राहुल सिन्हा ने कहा कि जिस पार्टी की 40 साल तक उन्होंने समर्पित भाव से सेवा की, उसका यह ईनाम मिला है। उन्होंने वीडियो में कहा कि मैं पिछले 40 सालों से पार्टी से जुड़ा हूं और पार्टी की सेवा कर रहा हूं। आज पार्टी ने मुझे यह पुरस्कार दिया।

    पार्टी से नाराजगी जताते हुए राहुल सिन्हा ने कहा कि उन्हें उन नेताओं का मार्ग प्रशस्त करने के लिए हटाया गया, जो तृणमूल कांग्रेस से आए हैं। राहुल सिन्हा ने कहा कि वो अपना अगला कदम तय करने से पहले 10-12 दिन का इंतजार करेंगे। आपको बता दें कि राहुल सिन्हा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में शामिल हैं। वो 40 साल से पार्टी में हैं। उन्हें लगातार दो बार प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया। साल 2015 में उन्हें राष्ट्रीय सचिव नियुक्त किया गया। वहीं राहुल सिन्हा के बीजेपी पर बंगाल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पार्टी ने एक निर्णय लिया है।

    एनडीए से अलग हुआ शिरोमणि अकाली दल, कृषि विधेयकों के विरोध में लिया फैसला

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    The BJP's new internal reshuffle has not gone down too well with all troops. Rahul Sinha, one of the longest serving leaders of the party in West Bengal, could not contain his resentment
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X