• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

स्कूल और कॉलेज फिर खुलेंगे, तो कैसे सुनिश्चित होगा सोशल डिस्टेंसिंग? गुत्थी सुलझाने में जुटा HRD मंत्रालय

|

नई दिल्ली। प्रायः स्कूलों और कॉलेजों के दोबारा खुलने पर छात्रों को नई सीटिंग व्यवस्था, क्लास रूम, लाइब्रेरी नियम, पुनर्निर्मित हॉस्टल, कैंटीन जैसे कई झमेलों का सामना करना होता है, लेकिन इस बार जब कोरोनावायरस महामारी से प्रेरित लॉकडाउन के बाद जब स्कूल और कॉलेज दोबारा खुलेंगे तो मानव संसाधन विकास मंत्रालय छात्रों की सुरक्षा की चिंता है और स्कूल-कॉलेज में सोशल डिस्टेंसिंग मानदंड के अनुपालन गुत्थी सुलझाने में जुटी हुई है।

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

HRD

गौरतलब है गत 16 मार्च को कोरोना वायरस महामारी के चलते देश भर के विश्वविद्यालयों और स्कूलों को बंद कर दिया गया था। हालांकि कोरोना वायरस महामारी के प्रसार के रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने गत 24 मार्च की रता को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी, जिसे अब आगामी 3 मई तक बढ़ाया गया है, जो कि आगामी रविवार को खत्म हो रहा है।

HRD

कोरोना वैक्सीन: ऑक्सफोर्ड ही नहीं, ये 6 वैक्सीन भी पहुंच चुकी हैं थर्ड फेज के ट्रायल में

बेंगलुरु में मास्क पहनना अनिवार्य, सड़क पर थूकने, पेशाब करने और कूड़ा फेंकने पर भी पाबंदी

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार जब भी स्कूल और कॉलेज दोबारा खुलेंगे, तब उचित सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों का पालन करना होगा, क्योंकि छात्रों की स्वास्थ्य और सुरक्षा के नियमों को प्राथमिकता देना होगा।हालांकि स्कूलों के लिए HRD मंत्रालय की स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग और विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा दिशानिर्देश बनाए जा रहे हैं।

HRD

वैसे, यूजीसी ने पहले ही सिफारिश कर दी है कि फ्रेशर्स के लिए शैक्षणिक सत्र सितंबर में शुरू हो सकता है और अगस्त में नामांकित छात्रों के लिए स्कूल विभिन्न आभासी माध्यमों से शिक्षण गतिविधियाँ भी कर रहे हैं।

BMC कर्मचारियों की 100 % उपस्थिति अनिवार्य, 55 वर्ष से ऊपर को Work From Home की सलाह

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दिशानिर्देशों में छात्र और कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक चेकलिस्ट और अनुशंसित उपाय शामिल होंगे। हालांकि किसी विशेष क्षेत्र में COVID-19 की स्थिति को ध्यान में रखना होगा ताकि संस्थान दिशा-निर्देशों का अनुपालन अपनी सुविधानुसार कर पाएं। क्योंकि HRD मंत्री ने कई बार दोहराया है कि छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

HRD

उन्होंने बताया कि स्कूलों और कॉलेजों के लिए दिशानिर्देश बनाए जा रहे हैं और राज्यों के साथ भी साझा किए जाएंगे ताकि वे स्कूल और कॉलेजों को फिर से खोलने से पहले गाइडलान के मुताबिक तैयार कर सकें। जिलों को दिशानिर्देशों के कार्यान्वयन और सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए स्कूल व कॉलेज परिसरों में कुछ निश्चित स्थान तैयार करना होगा।

HRD

लॉकडाउन में मलाईदार सरकारी नौकरी के अवसर, 1000 से अधिक निकली हैं रिक्तियां

उल्लेखनीय है मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने पिछले सप्ताह राज्य के शिक्षा मंत्रियों के साथ एक बैठक में सुरक्षा दिशानिर्देशों के मुद्दे पर विचार-विमर्श किया था और दोबारा खुलने वाले स्कूलों और कॉलेजों के लिए जारी होने वाली दिशा-निर्देशों में अग्र उल्लेखित मानदंड हो सकते हैं।

Covid19: दांंव पर है दुनिया भर में 160 करोड़ लोगों की नौकरी: संयुक्त राष्ट्र श्रम निकाय

स्कूलों और कॉलेजों में मास्क स्कूल यूनिफॉर्म का अनिवार्य हिस्सा होगाा

स्कूलों और कॉलेजों में मास्क स्कूल यूनिफॉर्म का अनिवार्य हिस्सा होगाा

इनमें खेल के मैदानों में सुबह की असेंबली और खेल गतिविधियों को निलंबित करना, स्कूल बसों के लिए मानदंड, वॉशरूम और कैफेटेरिया में 'क्या करें और क्या नहीं करें' और पूरी इमारतों का नियमित रूप से कीटाणुशोधन और मास्क स्कूल यूनिफॉर्म का अनिवार्य हिस्सा होगाा. जबकि आवासीय विद्यालयों के लिए दिशा-निर्देश में खाने की कैंटीन और हॉस्टल में सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों का विस्तार दिया जाएगा।

आईआईटी भी छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग के तरीकों पर काम कर रहे हैं

आईआईटी भी छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग के तरीकों पर काम कर रहे हैं

वहीं, कई भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) भी छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन करने के तरीकों पर विचार करने के लिए काम कर रहे हैं, जिसमें आगंतुकों के प्रवेश पर रोक, शिफ्ट में कक्षाएं और स्टेगर्ड प्रयोगशाला अवधि शामिल हैं।

सेमेस्टर परीक्षा जुलाई में ऑनलाइन या ऑफलाइन आयोजित की जा सकती है

सेमेस्टर परीक्षा जुलाई में ऑनलाइन या ऑफलाइन आयोजित की जा सकती है

यूजीसी की सिफारिशों के अनुसार सेमेस्टर परीक्षा जुलाई में ऑनलाइन या ऑफलाइन आयोजित की जा सकती है। अधिकारी ने कहा, अब तक ऑनलाइन होने वाली परीक्षाओं में सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करना होगा और उक्त सुरक्षा दिशा-निर्देश प्रतियोगी परीक्षाओं के संचालन पर भी लागू होगा।

CBSE बोर्ड 10वीं और 12वीं के 29 विषयों की लंबित क्लास आयोजित करेगा

CBSE बोर्ड 10वीं और 12वीं के 29 विषयों की लंबित क्लास आयोजित करेगा

जबकि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने दोहराया है कि वह कक्षा 10 और 12 बोर्ड परीक्षा के 29 विषयों की लंबित क्लास आयोजित करेगा, लेकिन अभी तक शेड्यूल की घोषणा नहीं की है।

भारत में महामारी में मरने वालों की संख्या बढ़कर 72 फीसदी हो गई है

भारत में महामारी में मरने वालों की संख्या बढ़कर 72 फीसदी हो गई है

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि नोवल कोरोनोवायरस महामारी के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 72 फीसदी हो गई और शुक्रवार को देश में यह संख्या बढ़कर 35,043 हो गई। देश में अभी Covid​​-19 के सक्रिय मामले 25,007 हैं, जबकि 8,888 लोग ठीक हो चुके हैं और एक मरीज पलायन कर चुका है। आंकड़ों के अनुसार भारत में दर्ज कुल 35,043 मामलों में 111 विदेशी नागरिक शामिल हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
According to officials of the Ministry of Human Resource Development, whenever the schools and colleges reopen, proper social distancing norms have to be followed, as the health and safety regulations of the students have to be given priority. Department and University Grants Commission for Universities and Higher Education Institutions (UGC) Guidelines are being made.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X