• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

SCO बैठक की मेजबानी करेगा रूस, भारत-चीन और पाकिस्तान के विदेश मंत्री हो सकते हैं शामिल

|

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच तीन महीने से सीमा पर तनाव चल रहा है। पाकिस्तान के साथ भी रिश्तों में तल्खी आई है। हाल ही में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह रूस की यात्रा पर गए थे, जहां एक कार्यक्रम में चीन के प्रतिनिधि भी शामिल हुए, लेकिन दोनों में मुलाकात नहीं हुई। इस बीच फिर एक ऐसा मौका सामने आ रहा है, जहां भारत-पाकिस्तान और चीन के विदेश मंत्री आमने-सामने होंगे, हालांकि अभी तक भारत की ओर से बैठक में शामिल होने का फैसला नहीं लिया गया है।

russia

दरअसल रूस ने शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गनाइजेशन और ब्रिक्श देशों के बीच एक मीटिंग का प्रस्ताव रखा है। अभी इसकी तारीख 10 सितंबर रखी गई है। राजनयिक सूत्रों के मुताबिक रूस ने ब्रिक्स देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक की मेजबानी का प्रस्ताव रखा है, लेकिन अभी तक भारत की ओर से इसके लिए हामी नहीं भरी गई है। भारत वर्तमान हालात की समीक्षा के बाद ही इस पर कोई निर्णय लेगा। वैसे तो इस बैठक की वर्चुअल होने की संभावना थी, लेकिन रूस ने साफ कर दिया है कि वो वर्चुअल की जगह वास्तविक तौर पर बैठक करना चाहता है।

लद्दाख के पास तैनात किए परमाणु बमवर्षक,बेहद खतरनाक दिख रहा है चीन का मंसूबा

अगर भारत इस बैठक में हिस्सा लेता है, तो ये सीमा विवाद के बाद पहली बार होगा, जब चीन भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री आमने-सामने होंगे। पाकिस्तान के साथ बातचीत पर भारत ने सालों पहले अपना रुख साफ कर दिया था। जिसमें कहा गया था कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद का साथ नहीं छोड़ता, तब तक कोई बातचीत नहीं होगी। वहीं चीन के साथ भी सिर्फ राजनयिक और सैन्य स्तर की बात हो रही है। हाल ही में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीनी विदेश मंत्री से बात की थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
russia has proposed Shanghai Cooperation Organisation meet in Moscow
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X