• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रिलायंस ने बढ़ाया ऑक्सीजन का उत्पादन, राज्यों को रोजाना 700 टन से ज्यादा की मुफ्त सप्लाई-रिपोर्ट

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 20 मई: अरबपति कारोबारी मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी जामनगर ऑयल रिफाइनरी में रोजाना 700 टन से ज्यादा मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक यह कोविड से बुरी तरह प्रभावित राज्यों को बिना किसी कीमत के पहुंचाई जा रही है। गुजरात के जामनगर में कंपनी ने शुरू में 100 टन मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू किया था, लेकिन इस मामले की जानकारी रखने वाले लोगों के मुताबिक इसने तत्काल इसका उत्पादन बढ़ाकर 700 टन से अधिक कर दिया है। यहां से इस मेडिकल-ऑक्सीजन की सप्लाई गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में की जा रही है, जो हर दिन 70,000 से ज्यादा गंभीर रूप से बीमार कोरोना मरीजों के इलाज में काम आएगी। बता दें कि जामनगरी की रिलायंस रिफाइनरी दुनिया में सबसे बड़ी है।

रोजाना 1,000 टन मेडिकल-ऑक्सीजन उत्पादन का लक्ष्य

रोजाना 1,000 टन मेडिकल-ऑक्सीजन उत्पादन का लक्ष्य

न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि अब रिलायंस की योजना है कि वह मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता को बढ़ाकर 1,000 टन रोजाना तक ले जाए। हालांकि, कंपनी को टिप्पणी के लिए जो ई-मेल भेजी गई उसका कोई जवाब नहीं आया। आमतौर पर जामनगर रिफाइनरी में कंपनी क्रूड ऑयल को डीजल, पेट्रोल और जेट ईंधन में बदलने का काम करती है। लेकिन, कोरोना वायरस के भयंकर शक्ल अख्तियार करने के बाद इसने वहां नए उपकरण लगाए और मेडिकल-ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू कर दिया। सूत्रों के मुताबिक कंपनी ने इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल-ऑक्सीजन के उत्पादन के लिए डायवर्ट कर दिया है। एक व्यक्ति ने कहा कि 'हर दिन करीब 700 टन ऑक्सीजन देशभर के राज्यों में सप्लाई की जा रही है। इससे 70,000 गंभीर मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।' जानकारी के मुताबिक कंपनी यह कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) के तहत कर रही है और उत्पादन से लेकर माइनस 183 डिग्री सेल्सियस तापमान वाले स्पेशल टैंकरों में इसके ट्रांसपोर्टेशन तक राज्य सरकारों से कोई रकम नहीं ली जा रही है।

सरकारी तेल कंपनियों ने भी शुरू किया उत्पादन

सरकारी तेल कंपनियों ने भी शुरू किया उत्पादन

उधर सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) और भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने भी अपने ऑक्सीजन उत्पादन को मेडिकल-ऑक्सीजन की ओर मोड़ दिया है। सोमवार को आईओसी ने कहा कि उसने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के विभिन्न अस्पतालों को 150 टन ऑक्सीजन की सप्लाई फ्री ऑफ कॉस्ट करना शुरू किया है। वहीं, बीपीसीएल भी इसी तरह से 100 टन मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई बिना किसी कीमत के कर रहा है।

कोविड के खिलाफ जंग में शुरू से दे रहे है योगदान

कोविड के खिलाफ जंग में शुरू से दे रहे है योगदान

सूत्रों का कहना है कि कोरोना महामारी के खिलाफ रिलायंस इंडस्ट्रीज इससे पहले भी कई तरह की पहल कर चुका है। रिलायंस फाउंडेशन ने मुंबई में बीएमसी के साथ मिलकर देश का पहला कोविड अस्पताल बनाया था। 100 बेड वाला वह अस्पताल सिर्फ दो हफ्तों में तैयार किया गया था, जिसे जल्दी ही बढ़ाकर 250 बेड कर दिया गया था। यही नहीं महाराष्ट्र के लोधिवाली में भी एक पूरी तरह सुसज्जित आइसोलेशन फैसिलिटी तैयार कर जिला प्रशासन को सौंपा था। यही नहीं मुंबई में स्पंदन हॉलिस्टिक मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल में भी क्वारंटीन सेंटर तैयार करने में कंपनी ने मदद की थी। कंपनी ने दिल्ली में सरदार पटेल कोविड-19 केयर सेंटर में डिजिट और मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने में भी सहायता की थी। यही नहीं सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल महाराष्ट्र में आईसीएमआर की ओर से चिन्हित पहला संस्थान था, जिसे प्लाज्मा थेरेपी के प्रभाव के क्लिनिकल ट्रायल में साझेदार बनाया गया था। रिलायंस इंडस्ट्री हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए रोजाना 1,00,000 पीपीई किट और फेस मास्क भी बना रहा है।

इसे भी पढ़ें- कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के लक्षणों में क्या है अंतर ?इसे भी पढ़ें- कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के लक्षणों में क्या है अंतर ?

English summary
Reliance industry starts production of 700 tons of medical oxygen daily, free supply to states
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X