• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Ratan Tata को क्यों ना करें प्यार, अपने बीमार पूर्व कर्मचारी से मिलने मुंबई से पुणे पहुंचे, पेश की मिसाल

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। Ratan Tata News: भारतीय बिजनेस टाइकून रतन टाटा की दरियादिली से हर कोई वाकिफ है, वह हर मौके पर लोगों की मदद के लिए हमेशा आगे खड़े रहे हैं। 83 वर्षीय सुप्रसिद्ध रतन टाटा (Ratan Tata) ने अपनी कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों को कभी वर्कर नहीं माना, उन्होंने हमेशा कार्मचारियों को परिवार के सदस्य के रूप में देखा है। वह कई कल्याणकारी योजनाएं भी चला रहे हैं जिसका लाभ उनके कर्मचारियों को मिलता है। लेकिन हाल ही में लोग उस समय हैरान रह गए जब रतन टाटा खुद अपने एक बीमार पूर्व कर्मचारी से मिलने अचानक उसके घर पहुंच गए।

मुंबई से पुणे कर्मचारी से मिलने पहुंचे रतन टाटा

मुंबई से पुणे कर्मचारी से मिलने पहुंचे रतन टाटा

83 साल के भारत के सबसे पसंद किए जाने वाले उद्योगपति रतन टाटा (Industrialist Ratan Tata) ने एक बार फिर मानवता की मिसाल (Example of humanity) पेश की है। अपने वर्तमान और पूर्व कर्मचारियों के प्रति उनकी चिंता और लगाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वह खुद कई दिनों से बीमार चल रहे एक कर्मचारी से मिलने अचानक उसके घर पहुंच गए। प्राप्त जानकारी के मुताबिक रतन टाटा खासतौर पर मुंबई (Mumbai) से पुणे (Pune) अपने पूर्व कर्मचारी का हाल जानने पहुंचे थे जो कई दिनों से बीमार था।

हर कोई रह गया हैरान

हर कोई रह गया हैरान

मुंबई से पुणे पहुंचने के बाद रतन टाटा ने सबसे पहले पूर्व कर्मचारी इनामदार से मिलने कोथरुड में गांधी भवन के पास वुडलैंड सोसायटी पहुंचे। यहां वह बिना किसी तामझाम के पहुंचे थे, गाड़ी से उतरने के बाद रतन टाटा सीधे इनामदार के घर दाखिल हुए। अपने घर रतन टाटा को देख इनामदार का परिवार हैरान रह गया और भावुक हो गए। रतन टाटा यहां करीब आधे घंटे तक रुके थे, उन्होंने अपने पूर्व कर्मचारी इनामदार के अच्छे सेहत की कामना की।

सोसायटी वाले हुए गदगद

सोसायटी वाले हुए गदगद

उसी सोसायटी में रहने वाली अंजलि पर्डिकर ने रतन टाटा की दो गाड़ियां पार्किंग की तरफ आते देखी थीं। उन्होंने बताया कि रतन टाटा देखने में इतने सहज थे कि लग ही नहीं रहा था कि वह इतने बड़े उद्यागपति हैं। उनमें जरा भी घमंड नहीं था। रतन टाटा गाड़ी से उतरे और सीधे लिफ्ट में चले गए। अंजलि पर्डिकर ने कहा, पहली नजर में देखने पर लगा कि वह रतन टाटा हैं, बाद में मैंने जब कर्मचारियों से पूछा तो उन्होंने बताया कि हां वह रतन टाटा ही हैं। सोसायटी में रतन टाटा के आने से वहां के लोग काफी खुश हैं।

यह भी पढ़ें: Ratan Tata Birthday: जब रतन टाटा ने खुद बताया क्यों नहीं की शादी, कहा- 3-4 बार सीरियस हुआ पर इस डर से हटा पीछे

English summary
Ratan Tata arrives in Pune from Mumbai to meet his Sick former employee Set example
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X