• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

घंटों चली राष्ट्र मंच की बैठक हुई खत्म, घनश्याम तिवारी बोले- देश के मुद्दों पर सुझाव के लिए गठित होगी टीम

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 22 जून। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार के आवास पर मंगलवार को आयोजित की गई राष्ट्र मंच की बैठक अब समाप्त हो चुकी है। देश की वर्तमान स्थिति और केंद्र सरकार की नीतियों पर चर्चा के लिए एक बार फिर विभिन्न विपक्षी दलों के नेता और अन्य प्रतिष्ठित हस्तियां एक छत के नीचे एकत्र हुईं। बता दें कि इस बैठक में वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी, पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी, पूर्व उच्चायुक्त केसी सिंह, फिल्म निर्माता प्रीतीश नंदी सहित कई दिग्गज पहुंचे। बीते सोमवार प्रशांत किशोर और शरद पवार की मुलाकात के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि राष्ट्र मंच की बैठक में तीसरा मोर्चा तैयार करने की कवायद तेज हो सकती है। हालांकि शरद पवार मे पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि बैठक का तीसरा मोर्चा से कोई लेना-देना नहीं है।

    Sharad Pawar के आवास पर Rashtra Manch की बैठक खत्म, कई दिग्गज हुए शरीक | वनइंडिया हिंदी

    Rashtra Manch meeting is over Ghanshyam Tiwari said need for preparation of an alternate vision

    बैठक खत्म होने के बाद तमान नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी भाग लिया और मीडियाकर्मियों के सवालों के जवाब भी दिए। साल 2018 में मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ राष्ट्र मंच का गठन करने वाले और टीएमसी के उपाध्यक्ष यशवंत सिन्हा ने कहा कि राष्ट्र मंच की बैठक ढाई घंटे चली और कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में शामिल राकांपा नेता माजिद मेमन ने कहा, 'यह बैठक राष्ट्र मंच के प्रमुख यशवंत सिन्हा ने बुलाई थी और राष्ट्र मंच के सभी संस्थापक सदस्यों और कार्यकर्ताओं की मदद से बुलाई गई थी। कहा जा रहा है कि शरद पवार साहब बड़ा राजनीतिक कदम उठा रहे हैं और कांग्रेस का बहिष्कार किया गया है, यह गलत है। मैंने खुद कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी, मनीष तिवारी को निमंत्रण दिया था।'

    कांग्रेस नेताओं को भी किया गया आमंत्रित
    माजिद मेमन ने आगे कहा कि बैठक कोई राजनीतिक बहिष्कार नहीं है। हमने राष्ट्र मंच की विचारधारा को मानने वाले नेताओं को आमंत्रित किया है जिसमें सभी राजनीतिक दलों के नेता आ सकते हैं। कोई राजनीतिक भेदभाव नहीं है। मैंने व्यक्तिगत रूप से कांग्रेस सदस्यों को आमंत्रित किया। यह धारणा गलत है कि कांग्रेस को छोड़कर एक बड़ा विपक्षी समूह बनने जा रहा है। जिन कांग्रेस नेताओं को आमंत्रित किया गया था उन्होंने किसी समस्या की वजह से बैठक में शामिल नहीं हो सकी।

    यह भी पढ़ें: शरद पवार की बैठक में शामिल हुए आठ दलों के नेता, एनसीपी बोली-नहीं थी राजनीतिक

    आम आदमी से जुड़े मुद्दों पर होगा फोकस
    वहीं, समाजवादी पार्टी के नेता घनश्याम तिवारी ने कहा, आज की बैठक का सारांश यह है कि देश में एक वैकल्पिक दृष्टि तैयार करने की आवश्यकता है, जो आम आदमी से जुड़े मुद्दों को हल करने के लिए मजबूत हो। राष्ट्र मंच ने देश के नागरिकों और संगठनों को ध्यान में रखते हुए विभिन्न महत्वपूर्ण मुद्दों पर एक मजबूत दृष्टि देने के लिए हमने यशवंत सिन्हा को एक टीम बनाने के लिए अथॉराइज किया है।

    पेट्रोल और डीजल कीमतों पर हुई चर्चा
    उन्होंने आगे कहा, राष्ट्र मंच एक ऐसा 'मंच' होगा जिसमें देश के विकास और भविष्य के लिए दृष्टि रखने वाला हर कोई शामिल होगा, चाहे वह राजनीतिक दल, सामाजिक संगठन या व्यक्ति हो। राष्ट्र मंच में भारत और विदेशों से वे लोग भी शामिल होंगे जो देश के बारे में सोचते हैं। हमने यह भी चर्चा की कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें कैसे किसान और मध्यम वर्ग को प्रभावित कर रही हैं। राष्ट्र मंच एक ऐसी जगह बनेगा जहां हर कोई एक साथ आ सकता है और सरकार को आवाज दे सकता है। अगली बैठक अधिक लोगों को शामिल करने पर केंद्रित होगी।

    English summary
    Rashtra Manch meeting is over Ghanshyam Tiwari said need for preparation of an alternate vision
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X