• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रामायण के 'लक्ष्मण' ने बताया- बाहर सामान लेने जाने पर लोग सम्मान में पैर छूने लगते थे

|

नई दिल्ली। लॉकडाउन के बीच आध्यात्मिक सीरियल रामायण का दोबारा प्रसारण किया गया। इस सीरियल को लोगों ने काफी पसंद किया और दूरदर्शन को काफी टीआरपी भी मिली। रामायण महाकाव्य में 'लक्ष्मण' की भूमिका निभाने वाले अभिनेता सुनील लहरी का कहना है कि जब वह किराने की दुकान पर खरीदारी के लिए जाते थे तो लोग उनके सम्मान में पैर छूने लगे थे। उन्होंने कहा कि वह शुरुआत में ज्यादा खुश नहीं थे क्योंकि इस प्रतिबद्धता के कारण उन्होंने बहुत सारे फिल्मी ऑफर खो दिए थे।

रामायण को 10-15 साल बाद भी यही प्रतिक्रिया मिलेगी

रामायण को 10-15 साल बाद भी यही प्रतिक्रिया मिलेगी

पिंकविला को दिए एक इंटरव्यू में सुनील लहरी ने कहा कि यह शो 10-15 साल बाद भी जब प्रसारित होगा तब भी इसे ऐसी ही प्रतिक्रिया मिलेगी। वह भी अब रामानंद सागर के रामायण से लक्ष्मण के रूप में जाने जाते हैं। सुनील लहरी ने कहा, 'जब मैं रामायण कर रहा था तब मैं शुरुआत में ज्यादा खुश नहीं था क्योंकि मैंने बहुत सारी फिल्मों के ऑफर खो दिए थे। आज मैं खुश हूं क्योंकि इतने सालों बाद भी लोग इसपर विश्वास करते हैं। मुझे पहचानते हैं और इसके बारे में बात कर रहे हैं। ये पहले की तुलना में बहुत अधिक है।'

'लोग पैर छूकर अभिवादन करते थे'

'लोग पैर छूकर अभिवादन करते थे'

सुनील ने शो के साथ आने वाली पहचान और सम्मान के बारे में बात करते हुए कहा, 'रामायण के बारे में सोचते ही मेरे दिमाग में जो पहली याद आती है, वो है दर्शकों का पागलपन, कहावत और कैसे लोग पहचाने जाते थे। बाहर निकलने पर या सामान खरीदने पर लोग पैर छूकर मेरा अभिवादन करते थे क्योंकि वो हमारे और पात्रों के साथ जुड़ जाते थे।' बता दें दूरदर्शन पर दोबारा प्रसारित होने वाले रामायण ने 16 अप्रैल को इतिहास रच दिया है। इस दिन शो की टीआरपी 7.7 करोड़ पहुंच गई।

दुनिया का सबसे अधिक देखा जाने वाला शो

दुनिया का सबसे अधिक देखा जाने वाला शो

इसके साथ ही ये दुनिया का सबसे अधिक देखा जाने वाला शो भी बन गया। डीडी नेशनल ने देर रात अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इस बात की जानकारी दी है। रामानंद सागर ने वाल्मीकि की रामायण और तुलसीदास की रामचरितमानस पर आधारित इस धारावाहिक के कुल 78 एपिसोड बनाए थे। 1987 से 1988 तक, रामायण दुनिया में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला शो बन गया था। इसके अलावा जून 2003 में यह लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में 'दुनिया में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला पौराणिक धारावाहिक' के रूप में दर्ज किया गया था।

उत्तर रामायण भी लोगों को काफी पसंद आया

उत्तर रामायण भी लोगों को काफी पसंद आया

बता दें रामायण के प्रसारण के बाद टीवी पर उत्तर रामायण का भी प्रसारण किया गया। लेकिन उत्तर रामायण के खत्‍म होने से दर्शक उदास थे लेकिन लॉकडाउन 3.0 शुरू होने के साथ ही एक बार फिर रामायण का प्रसारण शुरू हो गया है। इस बार रामायण स्‍टार प्‍लस पर 4 मई से शुरू हुई है। दर्शक रोज शाम 7:30 बजे इसका आनंद उठा सकते हैं। उत्तर रामायण भी कम रोचक नहीं रही और आखिरी तक दूरदर्शन की टीआरपी को मजबूती से कायम रखा। वहीं डीडी भारती पर दिखाई जा रही बी.आर. चोपड़ा की 'महाभारत' को कलर्स चैनल पर सोमवार से शुक्रवार शाम को 7-9 बजे के बीच दिखाया जा रहा है। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण लॉकडाउन में लोगों की अपील पर 'रामायण' और 'महाभारत' का दोबारा प्रसारण शुरू किया गया था।

जानिए 'रामायण' देखकर 'राम' के 6 साल के पोते ने क्या कहा?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ramayan lakshman aka sunil lahri says people used to touch his feet
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X