• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Raksha Bandhan 2020: रक्षाबंधन आज, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी देशवासियों को बधाई

|

नई दिल्ली। आज पूरे देश में रक्षाबंधन का पर्व मनाया जा रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेंद्र मोदी ने आज के इस पावन पर्व पर देशवासियों को बधाई दी है। मेले और त्योहारों के देश भारत में हर त्योहार पौराणिक महत्व से जुड़ा है, ऐसे ही त्योहारों में रक्षाबंधन भी है जिसे श्रावण महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है। आम प्रथा के अनुसार इस मौके पर बहनें अपने भाई की दाहिनी कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं और भाई बदले में बहन को उपहार के रूप में सदा उसकी रक्षा करने का वचन देता है। राखी में रक्षासूत्र का सबसे अधिक महत्व है। राखी कच्चे सूत जैसे सस्ती वस्तु से लेकर रंगीन कलावे, रेशमी धागे, सोने या चांदी जैसी मंहगी वस्तु तक की हो सकती है।

पीएम मोदी ने कब-कब जवानों के बीच पहुंचकर सबको चौंकाया ?

    Raksha Bandhan 2020: PM Modi समेत इन नेताओं ने दी रक्षा बंधन की शुभकामनाएं | वनइंडिया हिंदी
     रक्षाबंधन का पर्व आज

    रक्षाबंधन का पर्व आज

    मालूम हो कि इस बार रक्षाबंधन पर दिन में पांच घंटे का शुभ मुहूर्त है। दोपहर 2 से शाम 7 बजे तक सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त रहेगा, जिसमें भाई की कलाई पर राखी बांधना शुभ रहेगा। इस बीच दोपहर में 12.06 बजे से 12.59 बजे तक 53 मिनट का अभिजीत मुहूर्त भी रहेगा। इस दौरान राखी बांधना और भी शुभ रहेगा।

    यह पढ़ें: Raksha Bandhan 2020: सुबह 9.29 तक रहेगी भद्रा, उसके बाद 5 घंटे का श्रेष्ठ मुहूर्त

    एक धागा प्रेम का, एक बंधन प्यार का

    राखी का त्योहार कब शुरू हुआ यह कोई नहीं जानता। लेकिन भविष्य पुराण में वर्णन मिलता है कि देव और दानवों में जब युद्ध शुरू हुआ तब दानव हावी होते नजर आने लगे। भगवान इंद्र घबरा कर बृहस्पति के पास गए। वहां बैठी इन्द्र की पत्नी इंद्राणी सब सुन रही थी। उन्होंने रेशम का धागा मंत्रों की शक्ति से पवित्र करके अपने पति के हाथ पर बांध दिया। संयोग से वह श्रावण की पूर्णिमा का दिन था।

    कई ऐतिहासिक प्रसंग

    इस त्योहार से कई ऐतिहासिक प्रसंग जुड़े हैं। राजपूत जब लड़ाई पर जाते थे तब महिलाएं उनको माथे पर कुमकुम तिलक लगाने के साथ-साथ हाथ में रेशमी धागा बांधती थी। यह विश्वास था कि यह धागा उन्हें विजयश्री के साथ वापस ले आएगा।

     भाई-बहन के प्रेम का पर्व रक्षा-बंधन

    भाई-बहन के प्रेम का पर्व रक्षा-बंधन

    आज के दिन प्रात: स्नानादि से निवृत्त होकर लड़कियां और महिलाएं पूजा की थाली सजाती हैं। थाली में राखी के साथ रोली या हल्दी, चावल, दीपक और मिठाई होते हैं। लड़के और पुरुष स्नानादि कर पूजा या किसी उपयुक्त स्थान पर बैठते हैं। उन्हें रोली या हल्दी से टीका कर चावल को टीके पर लगाया जाता है और सिर पर छिड़का जाता है, उनकी आरती उतारी जाती है और तब दाहिनी कलाई पर राखी बांधी जाती है। भाई बहन को उपहार या धन देता है।

    यह पढ़ें: Raksha Bandhan 2020:: कृष्ण ने रखा एक-एक धागे का मान

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    President Ram Nath Kovind and PM Narendra Modi on extended warm greetings to the nation on the occasion of Raksha Bandhan.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X