• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राकेश टिकैत की भावुक अपील के बाद बदला गाजीपुर का माहौल, बड़ी संख्या में धरनास्थल पर पहुंचे किसान

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। Rakesh Tikait: कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले काफी समय से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन का मुख्य केंद्र दिल्ली बॉर्डर पर गाजीपुर स्थिति धरना स्थल है। गुरुवार की रात यहां पर काफी कुछ देखने को मिला, प्रदर्शनकारियों को यहां से हटाने के लिए प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गुरुवार की शाम को यहां से प्रदर्शनकारियो को संबोधित करते हुए कहा कि वह धरनास्थल को नहीं छोड़ेंगे। इस दौरान भावुक टिकैत रो पड़े और उनका रोने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा, जिसके बाद बड़ी संख्या में हरियाणा से किसान प्रदर्शन स्थल पर पहुंचने लगे। राकेश टिकैत ने कहा कि अगर प्रशासन ने उन्हें जबरन यहां से हटाने की कोशिश की तो वह आत्महत्या कर लेंगे।

    Farmers Protest: Ghazipur Border पर बड़ी संख्या में जुटने लगे किसान,पीछे हटी पुलिस | वनइंडिया हिंदी
    tikait

    26 जनवरी के बाद बदला माहौल

    दरअसल 26 जनवरी को जिस तरह से दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा हुई और लाल किले पर निशान साहिब का झंडा फहराया गया उसके बाद माना जा रहा था कि प्रशासन अब प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार करेगा। इस तरह की अफवाह फैलने लगी थी कि गाजीपुर धरना स्थल को प्रशासन खाली करा देगा। जिसके बाद बाद प्रदर्शन स्थल पर लोगों की आवाजाही का सिलसिला तेज हो गया।

    रात को कटी बिजली, बढ़ी भीड़

    यही नहीं स्थानीय रिपोर्ट के अनुसार गाजीपुर प्रदर्शन स्थल पर प्रशासन ने यहां की बिजली काट दी और बड़ी संख्या में पुलिस बल को यहां तैनात कर दिया गया। हालांकि गाजीपुर के डीएम अजय शंकर पांडे की ओर से इस बाबत कोई लिखित आदेश जारी नहीं किया गया था, लेकिन रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने पुलिस बल से प्रदर्शन स्थल को गुरुवार की रात को खाली करा लेने के लिए कहा था वहीं इन सब के बीच किसान नेता नरेश टिकैत ने कहा कि आज प्रदर्शन खत्म हो जाएगा जबकि उनके भाई राकेश टिकैत ने कहा कि प्रदर्शन जारी रहेगा।

    गुरुवार को सुबह पसरा रहा सन्नाटा

    बुधवार की रात बागपत प्ररशासन ने उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन स्थल को बिना बल के प्रयोग किए ही खाली करा लिया था। कुछ इसी तरह की योजना गाजीपुर प्रदर्शन स्थल को लेकर बनाई जाने की बात कही जा रही थी। 26 जनवरी की हिंसा के बाद कई किसान नेताओं ने इस पूरी हिंसा से अपना पल्ला झाड़ लिया था, लेकिन हिंसा के बाद ये नेता प्रशासन के निशाने पर थे, जिसकी वजह से प्रदर्शनकारियों में इस बात का डर था कि बड़ी कार्रवाई हो सकती है, यही वजह है कि गुरुवार को प्रदर्शन स्थल पर काफी शांति देखने को मिली।

    राकेश टिकैत की भावुक अपील

    राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत जोकि गुरुवार को मुजफ्फरनगर में थे उन्होंने कहा कि गाजीपुर में धरना खत्म किया जाएगा, लेकिन राकेश टिकैत ने कहा कि प्रदर्शन जारी रहेगा और वह धरना स्थल पर डटे रहेंगे। लेकिन गुरुवार की शाम को माहौल उस वक्त बदलने लगा जब राकेश टिकैत ने भावुक अपील की और वह धरनास्थल पर रो पड़े, जिसके बाद प्रदर्शन स्थल पर किसानों की भीड़ बढ़ने लगी। आधी रात को टिकैत ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि और प्रदर्शनकारी यहां जल्द पहुंचेंगे और उन्होंने लोगों से शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की। गाजीपुर के डीएम अजय शंकर पांडे और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने प्रदर्शन स्थल का दौरा किया, इस वक्त प्रदर्शन स्थल पर बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी मौजूद थे। यहां अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को सुबह हटा लिया गया।

    इसे भी पढ़ें- Farmers Protest: राहुल गांधी बोले- 'एक साइड चुनने का समय है, मैं किसानों के 'शांतिपूर्ण' आंदोलन के साथ हूं'इसे भी पढ़ें- Farmers Protest: राहुल गांधी बोले- 'एक साइड चुनने का समय है, मैं किसानों के 'शांतिपूर्ण' आंदोलन के साथ हूं'

    English summary
    Rakesh Tikait breaks down emotional appeal amid farmers protest at Ghazipur protest site huge crowd gathers
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X