• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बीमार रेलवे को सुधारने के लिए प्रभु ने लिया मेट्रोमैन का सहारा

|

नयी दिल्ली। दिल्ली मेट्रो को सफलतापूर्व क्रियान्वित कर दुनिया की दूसरे सबसे बेहतर मेट्रो बनाकर इतिहास रचने वाले मेट्रोमैन ई श्रीधरन एक बार फिर से एक्शन में आ गए है। श्रीधरन जल्द ही अपने पुराने महकमे रेलवे में वापसी कर सकते हैं। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने श्रीधरन को नई जिम्मे दारी सौंपने का फैसला किया है।

e sreedharan

रेलमंत्री ने 82 साल के श्रीधरन को ऐसी कमेटी का अध्यक्ष बनाने का फैसला किया है जो रेलवे में पारदर्शिता लाने का काम करेगी। ये समिति ऐसी प्रणाली का निर्माण करेगी, जिसकी मदद से रेलवे में पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्चित की जाएगी।

यही कमेटी रेलवे में टेंडरिंग समेत सभी वित्तीय मामलों का भी फैसला करेगी। ये कमेटी अपनी रिपोर्ट 4 हफ्तों के बीच सौंपेगी। उसकी रिपोर्ट में अपनी प्रणाली और प्रावधानों की जानकारी शामिल होगी। माना जा रहा है सही और समयबद्ध तरीके से काम को संपन्न करने के लिए प्रबंधन सूचना तंत्र का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

मेट्रो के पहले प्रबंध निदेशक रहे ई श्रीधरन ने दिल्ली मेट्रो में असाधाराण काम करके दिखाया था। उन्हें साल 2001 में पद्मश्री और साल 2008 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

English summary
With Suresh Prabhu taking over, the Railways has initiated a number of steps to bring about efficiency with former Delhi Metro chief E Sreedharan also being roped in as part of this process.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X