• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना महामारी में जान गंवाने वालों के प्रति राहुल ने व्यक्त की संवेदना, कहा- 'साथ हैं तो आस है'

|

नई दिल्ली, 30 अप्रैल: देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर का कहर जारी है, जहां कई दिनों से आंकड़ा 3.5 लाख के ऊपर ही रहता है। इतने ज्यादा मामले सामने आने से अस्पतालों पर बोझ लगातार बढ़ता ही जा रहा है, जिससे वहां पर ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी हो रही है। ऐसे में अब मौत के आंकड़ों ने भी सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। इसको लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर है। साथ ही कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने मृतकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है।

    Coronavirus: कोरोना से जंग लड़ रहे लोगों के प्रति Rahul Gandhi ने व्यक्त की संवेदना | वनइंडिया हिंदी

    corona

    राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि इलाज की कमी के चलते अपने प्रियजन खो रहे देशवासियों को मेरी संवेदनाएं। इस त्रासदी में आप अकेले नहीं हैं- देश के हर राज्य से प्रार्थना और सहानुभूति आपके साथ है। साथ हैं तो आस है। एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि जो भरा नहीं है भावों से, जो दर्द सुनने को तैयार नहीं, वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिस 'सिस्टम' को जन से प्यार नहीं।

    यूपी पंचायत चुनाव में शिक्षकों की मृत्यु की खबर दुखद और डरावनी, प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव ने कहायूपी पंचायत चुनाव में शिक्षकों की मृत्यु की खबर दुखद और डरावनी, प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव ने कहा

    24 घंटे में 3.86 लाख केस
    स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों में देश में कोरोना के 3,86,452 नए केस सामने आए हैं। ऐसे में अब देश में संक्रमितों की कुल संख्या 1,87,62,976 हो गई है। तो वहीं 24 घंटे के अंदर कोरोना से 3498 लोगों ने दम तोड़ा है, जिसके बाद मौत का आंकड़ा 2,08,330 पहुंच गया है। भारत में अब एक्टिव केस 31,70,228 हैं, जबकि 2,97,540 लोग ठीक होकर अस्पताल से घर जा चुके हैं। महामारी के कहर को देखते हुए जनवरी में सरकार ने टीकाकरण अभियान शुरू किया था, जिसके तहत अब तक 15,22,45,179 डोज लोगों को लगाई जा चुकी है।

    English summary
    Rahul gandhi expressed condolences who lost their lives in Corona epidemicराहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि इलाज की कमी के चलते अपने प्रियजन खो रहे देशवासियों को मेरी संवेदनाएं। इस त्रासदी में आप अकेले नहीं हैं- देश के हर राज्य से प्रार्थना और सहानुभूति आपके साथ है। साथ हैं तो आस है। एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि जो भरा नहीं है भावों से, जो दर्द सुनने को तैयार नहीं, वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिस 'सिस्टम' को जन से प्यार नहीं।
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X