• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पंजाब सीएम अमरिंदर सिंह की अपील- पराली न जलाएं किसान, बिगड़ सकती है कोविड की स्थिति

|

चंडीगढ़। पंजाब में किसानों द्वारा पराली जलाए जाने से पर्यावरण को लेकर चिंता शुरू हो गई है। अब पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रदेश के किसानों से अपील की है कि वे खेतों में पड़े फसलों के अवशेषों को न जलाएं। अमरिंदर सिंह ने कहा कि देश में पहले से ही कोविड-19 की समस्या चल रही है। ऐसे में पराली जलाने से प्रदूषण फैलेगा जिसके चलते कोविड-19 की समस्या और बढ़ जाएगी।

Amarinder Singh

पंजाब के मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी बयान में बताया गया है कि सरकार ने धान उगाने वाले गांवों में 8000 नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। जिनके माध्यम से किसानों को 23500 मशीनें दी गई हैं।

बता दें कि पंजाब और हरियाणा में किसानों के पराली जलाने के चलते दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ जाता है। हालांकि अभी लॉकडाउन की वजह से दिल्ली की हवा काफी साफ है लेकिन जिस तरह से पराली जलाने की घटनाएं सामने आ रहीं हैं। अगर ये रुकी न तो जल्द ही दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स बढ़ सकता है। प्रदूषण के स्तर में शुक्रवार से उछाल देखा गया है। शनिवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 165 रहा था। सोमवार को इसके 200 पार पहुंच जाने की उम्मीद जताई जा रही है।

पंजाब में 1.97 करोड़ पराली हर साल निकलती है। इसमें से 75 प्रतिशत पराली जला दी जाती है। यह समस्या खतरनाक रूप से ले चुकी है। इससे एक तो मिट्टी को जैविक सामग्री नहीं मिल पाती है वहीं उठने वाले धुएं के चलते हवा भी खराब होती है।

हरियाणा और पंजाब में पराली जलाने से दिल्ली में होने वाले प्रदूषण पर केजरीवाल गंभीर, मंत्री जावड़ेकर को लिखी चिट्ठी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
punjab CM Amarinder Singh appealed to farmers not to burn crop residue
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X