• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पुणे: पुलिस ने बॉायोटेक कंपनी को किया सील, 20 करोड़ रुपये की ड्रग्स और नकदी जब्त की

|

पुणे। महाराष्‍ट्र के पुणे शहर के पिंपरी-चिंचवाड़ पुलिस ने बुधवार को एक बायोटेक कंपनी में चल रहे ड्रग्‍स के धंधे का भांडाफोड़ किया है। पुलिस ने दस बॉयाटे कंपनी को सील कर दिया जिसमें मेफेड्रोन दवा बनाने और बेचने का अवैध धंधा चल रहा था। इसके साथ ही पुलिस ने भारी मात्रा में ड्रग्स और नगदी बरामद की है।भारी मात्रा में पुलिस ने एक नाइजीरियाई नागरिक सहित 3 और आरोपियों को गिरफ्तार किया। अब तक कुल 12 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस ने इस छापेमारी में 20 करोड़ रुपये की ड्रग्स और नकदी बरामद कर जब्त किया है।

pic
पुलिस के अनुसार पकड़े गए ये सभी लोग पुणे और मुंबई में ड्रग्स रैकेट संचालित कर रहे थे। ये सभी पुणे के पिंपरी चिंचवाड़ के रंजनगांव की एमआईडीसी फैक्ट्री में ड्रग्स बनाते थे और वहां तैयार किया गया ड्रग अलग-अलग जगहों पर बेचते थे। पुलिस ने बताया कि उसने 20 करोड़ रुपये की कीमत की ड्रग्स जब्त की है इसके साथ ही करीब 90 लाख रुपये की कीमत का अन्य माल और करीब 75 लाख रुपये की संपत्ति की जब्ती की है।

फैक्ट्री बनाने के लिए खरीद चुके थे जमीन

पिंपरी चिंचवाड़ के पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि हमारी पुलिस ने जिन्‍हें गिरफ्तार किया वे लोग पालघर में भी एक फैक्ट्री बनाने की योजना बना रहे थे। इन सभी आरोपियों ने 112 किलो एमडी ड्रग्स बेचकर उससे कमाए रुपयों से 2 एकड़ जमीन भी खरीद ली थी। कमिश्‍नर प्रकाश ने बताया कि पुलिस की टीम ने इससे पहले 7 अक्टूबर को पांच आरोपियों को 20 करोड़ की कीमत के 20 किलो एमडी ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया था। मामले की आगे की जांच के लिए बनाई गई छह टीमों को जांच में पता चला कि आरोपियों की रंजनगांव एमआईडीसी में स्थित संयोग बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की बंद फैक्ट्री में ड्रग्स बनाने की योजना बना रहे थे। वहां इन लोगों ने दिसंबर 2019 में 132 किलो एमडी ड्रग्स का निर्माण किया। इन आरोपियों ने 112 किलो ड्रग्स बेच दी और 20 किलो ड्रग्स को पुलिस की टीम ने जब्त कर लिया।

इस गिरोह का सरगना छोटा राजन गिरोह से है संबंधित

पुलिस कमिश्नर ने ये भी बताया कि इस ड्र्ग्स गैंग का मास्टरमाइंड छोटा राजन गैंग से संबंध रखने वाले बोरीवली का रहने वाले तुषार सूर्यकांत काले से है। इस गिरोह का सरगना राकेश श्रीकांत खानिवडेकर उर्फ रॉकी ऑफ वसई है। पुलिस ने नाइजीरियन व्‍यक्ति को पकड़ा है उसका नाम जुबु युकोडो है जो इस गिरोह के साथ ड्रग बेचने का काम करता था और वसई में रहता है। इससे पहले भी ये नाइजीरियन एक ड्रग केस में कोल्हापुर जेल में सजा काट चुका है। इसके पास से युकाडो के जाली दस्‍तावेज बदामद किए गए है यही कारण है कि इसको अन्‍य धाराओं के तहत भी बुक किया गया है।

कैंसर से जंग जीतने के बाद संजय दत्‍त ने लिखा ये पहला इमोशन पोस्‍ट, फैंस को कहा शुक्रिया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pune: Police seals biotech company, seized drugs and cash worth Rs 20 crore
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X