• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

प्रियंका चोपड़ा,नव्या नवेली नंदा ने झारखंड की सीमा की तारीफ, जिसने हासिल की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की छात्रवृति

|

मुंबई, अप्रैल 23: झारखंड की एक लड़की सीमा को हार्वड विश्‍वविद्यालय से स्‍कालशिप मिली है। जिसकी चर्चा देश ही नहीं विदेश में भी हो रही है। धागा मिल में काम करने वाले मजदूर पिता की बेटी सीमा की उपलब्धि की हर कोई सराहना कर रहा है। वहीं अब बॉलीवुड एक्‍ट्रेस प्रियंका चोपड़ा और अमिताभ बच्‍चन की नातिन नव्या नवेली नंदा ने सीमा की जमकर प्रसंशा की है और उसकी सफलता की कहानी अपने इंस्‍टाग्राम पर शेयर की है।

pic

प्रियंका चोपड़ा ने सीमा की तारीफ में लिखे ये शब्द

एक्‍ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने शुक्रवार को झारखंड की रहने वाली सीमा की तारीफ की जिसने कैम्ब्रिज में हार्वर्ड विश्वविद्यालय में छात्रवृत्ति हासिल की है। प्रियंका चोपड़ा ने ट्विटर पर पर युवा इंडिया द्वारा सीमा की कहानी साझा की और उनकी पोस्ट को कैप्शन दिया, "एक लड़की को शिक्षित करें और वह दुनिया को बदल सकती है ... ऐसी प्रेरणादायक उपलब्धि। ब्रावो सीमा मैं यह देखने के लिए इंतजार नहीं कर सकती कि आप आगे क्या करती हो।"

priyanka

नव्या नवेली नंदा ने अपने इंस्टाग्राम पर साझा की ये स्‍टोरी
वहीं अमिताभ बच्‍चन की पोती नव्‍या नवेली ने सीमा की कहानी और उसकी तस्वीरों को इंस्टाग्राम पर साझा करते हुए, लिखा युवा इंडिया। "पिछले हफ्ते, 2021 स्नातक कैम्ब्रिज, मैसाचुसेट्स में हार्वर्ड विश्वविद्यालय में एक पूरी छात्रवृत्ति स्वीकार कर ली गई। सीमा, ओरमांझी के एक गाँव में अनपढ़ माता-पिता की बेटी हैं। उनका परिवार निर्वाह खेती के साथ-साथ एक स्थानीय धागा कारखाने में काम करते हैं । 2012 में युमाका फुटबॉल टीम में शामिल होने के बाद, सीमा ने बाल विवाह से बचने के लिए, एक शिक्षा के अधिकार के तहत लड़ाई लड़ी और शॉर्ट्स पहनने के कारण उसका मजाक बना इसके बावजूद वर्षों तक फुटबॉल खेला। वह एक विश्वविद्यालय में पढ़ाई करने वाली अपने परिवार की पहली महिला होगी।"

pic

नवेली ने सीमा की तारीफ में लिखी ये बात

"हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, जिसे दुनिया के सबसे अच्छे विश्वविद्यालयों में से एक माना जाता है उसने इस बार अत्‍यधिक संख्‍या में अप्‍लीकेशन होने के कारण बहुत कम लोगों को मौका दियाफ केवल 3.4% को मौका दिया। सभी बाधाओं को धता बताते हुए, सीमा ने इस बहुत कठिन कम्‍पटीशन में हार्वर्ड में एक स्थान जीता है। हालांकि सीमा को यह नहीं पता कि वह हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अभी तक किस विषय को चुनेगी, लेकिन सीमा ने ये उप‍लब्धि हासिल करके एक मिसाल पेश की है। महिलाओं के खिलाफ लैंगिक भेदभाव, घरेलू हिंसा, बाल विवाह आदि के खिलाफ अन्याय को कम करने के लिए समुदाय आवश्यक है। यह न केवल आर्थिक विकास बल्कि सामाजिक विकास में भागीदार बनती हैं। हां महिलाएं प्रत्येक घर में निर्णय लेने में भाग लेती हैं।

English summary
Priyanka Chopra, Navya Naveli Nanda praised the boundary of Jharkhand, who received Harvard University scholarship
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X