• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इंडिया एनर्जी फोरम में बोले पीएम मोदी- क्लीन एनर्जी में भारत का भविष्य शानदार

|

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को सेरावीक के इंडिया एनर्जी फोरम का उद्घाटन किया। 26 से 28 अक्तूबर तक, तीन दिन तक चलने वाले इस कार्यक्रम का पीएम मोदी ने वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दुनिया की प्रमुख तेल और गैस कंपनियों के सीईओ से बात की।इंडिया एनर्जी फोरम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस साल की थीम 'इंडियाज एनर्जी फ्यूचर, इन ए वर्ल्ड ऑफ चेंज' बिल्कुल प्रासंगिक है। भारत का एनर्जी फ्यूचर उज्ज्वल और सुरक्षित है।

Prime Minister Narendra Modi in 4th India Energy Forum CERAWeek
    India Energy Forum को PM Narendra Modi ने किया संबोधित, कही ये बातें | वनइंडिया हिंदी

    अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत क्लीन एनर्जी की दिशा में काम कर रहा है। आने वाले कुछ वर्षों में एनर्जी खपत में भारत में दोगुनी हो जाएगी। ऐसे में एनर्जी में निवेश के लिए दुनिया में भारत सबसे बेहतर विकल्प बनकर उभरा है।

    पीएम ने कहा कि ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों को बढ़ावा देने में भारत सबसे सक्रिय देशों में से है। पिछले छह वर्षों में भारत में 36 करोड़ से अधिक LED बल्ब वितरित किए गए हैं। वहीं पिछले छह सालों में 11 मिलियन से अधिक स्मार्ट एलईडी स्ट्रीट लाइटें लगाई गईं। इससे हर साल 60 बिलियन यूनिट की अनुमानित ऊर्जा की बचत हो रही है।

    पीएम ने कहा,उर्जा सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। ऐसे में भारत हमेशा वैश्विक लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए काम करेगा। हम वैश्विक समुदाय के साथ की गई प्रतिबद्धता के साथ चलेंगे। हमने 2022 तक अक्षय ऊर्जा स्थापित क्षमता को 175 गीगावॉट बढ़ाने का लक्ष्य रखा था, जिसे हमने अब 2030 तक 450 गीगावॉट तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा है।

    प्रधानमंत्री ने कहा कि घरेलू गैस का उत्पादन बढ़ाना सरकार की प्राथमिकता रही है। हम 'वन नेशन, वन गैस ग्रिड' को प्राप्त करने और गैस आधारित अर्थव्यवस्था की ओर शिफ्ट करने की योजना बना रहे हैं। भारत का पहला स्वचालित राष्ट्रीय स्तर का गैस ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म इस साल जून में लॉन्च किया गया था। यह गैस के बाजार मूल्य की खोज करने के लिए मानक प्रक्रियाओं को निर्धारित करता है।

    इस कार्यक्रम में वक्ताओं के एक अंतरराष्ट्रीय समूह, भारत के एक हजार से अधिक प्रतिनिधियों और 30 से अधिक देशों के एक समुदाय को बुलाया गया है। जिसमें क्षेत्रीय ऊर्जा कंपनियों, ऊर्जा से संबंधित उद्योगों, संस्थानों और सरकारों से शामिल हैं। इसका उद्देश्य बेहतर गतिविधियों को समझने, सुधारों पर चर्चा करने और भारतीय तेल एवं गैस मूल्य श्रृंखला में निवेश में तेजी लाने के लिए रणनीतियों के बारे में जानकारी के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान करना है।

    ये भी पढ़िए- जानिए, कौन हैं संदीप कुमार, 'मन की बात' में PM मोदी की तारीफ पर कहा, 'शुक्रिया'

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Prime Minister Narendra Modi in 4th India Energy Forum CERAWeek
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X