• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

संसद हमले में बलिदान देने वालों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। सोमवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्रियों ने सोमवार को उन लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने 2001 के संसद हमले में "राष्ट्र की सेवा और सर्वोच्च बलिदान" के लिए अपनी जान गंवाई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं उन बहादुर सुरक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, जिन्होंने 2001 में आज के दिन, दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की संसद की रक्षा करते हुए एक नृशंस आतंकवादी हमले के खिलाफ अपने प्राणों की आहुति दी थी। उनके सर्वोच्च बलिदान के लिए राष्ट्र सदैव उनका आभारी रहेगा।

    Parliament Attack 20 Year: संसद में ओम बिरला समेत इन दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि | वनइंडिया हिंदी
    president ramnath kovind pm modi and central ministers give tribute to martyed of sansad attack

    वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि मैं उन सभी सुरक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जो 2001 में संसद हमले के दौरान कर्तव्य के दौरान शहीद हुए थे। राष्ट्र के लिए उनकी सेवा और सर्वोच्च बलिदान हर नागरिक को प्रेरित करता है।

    वहीं ट्वीट करते हुए केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने लिखा कि भारतीय लोकतंत्र के मंदिर संसद भवन पर हुए कायरतापूर्ण आतंकी हमले में राष्ट्र के गौरव की रक्षा हेतु अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले सभी बहादुर सुरक्षाबलों के साहस व शौर्य को कोटिशः नमन करता हूँ। आपका अद्वितीय पराक्रम व अमर बलिदान सदैव हमें राष्ट्रसेवा हेतु प्रेरित करता रहेगा।

    वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि देश कर्तव्य की पंक्ति में उनके साहस और सर्वोच्च बलिदान के लिए आभारी रहेगा। "" उन बहादुर सुरक्षा कर्मियों को मेरी श्रद्धांजलि जिन्होंने 2001 में संसद भवन पर हमले के दौरान अपने प्राणों की आहुति दी।

    राउंडअप: हेलिकॉप्टर हादसे पर रक्षा मंत्री ने संसद में दिया बयान, जानें संसद में नौवें दिन क्या हुआ?राउंडअप: हेलिकॉप्टर हादसे पर रक्षा मंत्री ने संसद में दिया बयान, जानें संसद में नौवें दिन क्या हुआ?

    बता दें कि 13 दिसंबर, 2001 को भारी हथियारों से लैस पांच आतंकवादियों ने संसद परिसर के अंदर धावा बोल दिया और अंधाधुंध गोलियां चला दीं, जिसमें 14 लोगों की जान चली गई, जिनमें ज्यादातर सुरक्षा बल के जवान और एक नागरिक था। यह हमला संसद के स्थगित होने के करीब 40 मिनट बाद हुआ और इमारत में करीब 100 सदस्य मौजूद थे।

    Comments
    English summary
    president ramnath kovind pm modi and central ministers give tribute to martyed of sansad attack
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X