Pradyuman Murder case: आरोपी छात्र के पिता के साथ रात 2 बजे तक क्या हुआ?

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

गुरुग्राम। रेयान इंटरनेशनल स्कूल में जिस तरह से सात साल के मासूम की हत्या के आरोप में सीबीआई ने 11वीं के छात्र को गिरफ्तार किया है। सीबीआई सूत्रों की मानें तो छात्र ने पैरेंट्स टीचर्स मीटिंग को टालने के लिए प्रद्युम्न की हत्या की है। लेकिन सीबीआई के खिलाफ आरोपी छात्र के पिता ने सीबीआई को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है। पिता का आरोप है कि सीबीआई ने जबरन उनसे हत्या के कबूलनामे पर हस्ताक्षर कराया।

Ryan International case: Student of 11th standard killed Pradyuman - CBI | वनइंडिया हिंदी
pradyuman murder case

आरोपी छात्र के पिता का कहना है कि सीबीआई के आरोप निराधार हैं और वह जानबूझकर मेरे बेटे को फंसा रही है। पिता ने कहा कि हम पहले दिन से इस मामले में पुलिस का सहयोग कर रहे हैं, जबसे यह मामला सीबीआई के पास गया है तबसे इन लोगों ने कई बार हमसे पूछताछ किया। कल रात को सीबीआई ने मुझे घंटो बैठाया रखा और मुझसे कहा कि आपका बेटा हत्यारा है, हम आपके बेटे को गिरफ्तार कर रहे हैं। जबतक आप अपने बेटे के कबूलनामे पर हस्ताक्षर नहीं करते हैं तब तक नहीं जाने दुंगा। रात को 2 बजे मुझे सीबीआई ऑफिस से जाने दिया गया। मेरे बेटे ने खुद इस प्रद्युम्न की हत्या के बारे में बताया, वह पूरे दिन स्कूल में रहा, पेपर दिया, उसके कपड़े पर कहीं भी खून के धब्बे नहीं हैं। मैं प्रद्युम्न के साथ अपनी पूरी सहानभूति रखता हूं, लेकिन मैं यह नहीं चाहता हूं कि मेरे बेटे को गलत तरीके से फंसाया जाए।

वहीं सीबीआई सूत्रों का कहना है कि उनके पास उनके पास आरोपी छात्र के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं, फॉरेंसिक रिपोर्ट की जांच के भी हमारे पास सबूत हैं। सीबीआई का कहना है कि आरोपी छात्र ने स्कूल में पैरेंट्स टीचर्स मीट को रद्द कराने के लिए प्रद्युम्न की हत्या की, साथ ही इस मामले में प्रद्युम्न के साथ यौन शोषण की बात से सीबीआई ने साफ इनकार किया है। ऐसे में हरियाणा पुलिस कटघरे मे खड़ी हो गई है।

इसे भी पढ़ें- Pradyuman Murder Case Live: 11वीं के छात्र ने परीक्षा रद्द कराने के लिए की हत्या- सीबीआई सूत्र

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pradyuman Murder case accuses students father alleges CBI of fixing his son. He says he was forcibly signed on the acceptance letter.
Please Wait while comments are loading...