• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सुषमा स्वराज की शोक सभा में बोले PM मोदी, कहा- उम्र में मुझसे छोटी थीं लेकिन लगा देती थीं जमकर क्लास

|

नई दिल्ली। देश ने हाल ही में अपनी प्रिय नेता सुषमा स्वराज को खोया है, मंगलवार को आयोजित उनकी श्रद्धांजलि सभा में हर किसी ने अपनी तरह से उन्हें याद किया लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने उनसे जुड़ा एक ऐसा किस्सा शेयर किया, जिसे सुनकर हर किसी की आंखें भर आईं और सीना गर्व से चौड़ा हो गया, पीएम ने उस समय का जिक्र किया, जब वह पहली बार संयुक्त राष्ट्र में भाषण देने वाले थे।

'यूएन में भाषण के दौरान पहला सबक सिखाया'

'यूएन में भाषण के दौरान पहला सबक सिखाया'

पीएम मोदी ने कहा, 'यूएन में मेरा भाषण होना था, मैं पहली बार वहां जा रहा था। सुषमा जी मुझसे पहले पहुंच गई थीं। मैं जब वहां पहुंचा तो मुझे रिसीव करने के लिए वह गेट पर थीं। मैंने कहा कि कल सुबह मुझे बोलना है, इस पर चर्चा कर लेते हैं तो सुषमा जी ने पूछा कि आपका भाषण कहां है? मैंने कहा कि ऐसे ही बोल देंगे, उन्होंने कहा कि अरे भाई ऐसे नहीं होता है, आपको पूरी दुनिया के सामने भारत की बात कहनी है, आप यूं ही नहीं बोल सकते हैं।'

यह पढ़ें:Independence Day 2019: जानिए राष्ट्रगान जन गण मन... के एक-एक शब्द का मतलबयह पढ़ें:Independence Day 2019: जानिए राष्ट्रगान जन गण मन... के एक-एक शब्द का मतलब

'रात में ही मुझसे स्पीच तैयार करवाई'

'रात में ही मुझसे स्पीच तैयार करवाई'

पीएम ने बताया, 'सुषमा जी का बड़ा आग्रह था कि आप कितने ही अच्छे वक्ता क्यों न हों, आपके विचारों में कितनी ही साध्यता क्यों न हो, लेकिन कुछ फोरम होते हैं, जिनकी अपनी मर्यादा होती हैं और वे आवश्यक होती हैं। यह सुषमा जी ने मुझे पहला सबक सिखा दिया था। कहने का मतलब यह है कि जिम्मेदारी जो भी हो, लेकिन जो आवश्यक है उसे बेरोकटोक कहना चाहिए, आपको यकीन नहीं होगा, उन्होंने रात में ही मुझसे स्पीच तैयार करवाई।'

 'जरूरत पड़ने पर वो कटु बोलने से भी पीछे नहीं हटती थीं'

'जरूरत पड़ने पर वो कटु बोलने से भी पीछे नहीं हटती थीं'

पीएम ने कहा कि सब लोग कहते हैं कि सुषमा जी मृदु थी, नम्र थी, लेकिन इसके साथ ही जरूरत पड़ती थी वह कटु बोलने से भी पीछे नहीं हटती थीं, उन्हें पता है कि कब, कहां और किसे , कैसे जवाब देना है, वो बहुत ही सुलझी हुई और समझदार नेता थीं, जिन्होंने ऐसे ही ना जाने कितने ही उदाहरण अंकित किए हैं। उन्होंने कहा कि "सुषमा जी के व्यक्तित्व के अनेक पहलू थे, जीवन के अनेक पड़ाव थे और भाजपा के कार्यकर्ता के रूप में एक अनन्य निकट साथी के रूप में काम करते हुए, असंख्य घटनाओं के हम जीवंत साक्षी रहे हैं, पीएम मोदी ने कहा कि सुषमा स्वराज उम्र में उनसे छोटी थीं लेकिन उन्होंने उन्हें बहुत कुछ सिखाया हैं।

यह पढ़ें: Happy Independence Day 2019: स्वतंत्रता दिवस पर दोस्तों को भेजें ये शुभकामना संदेशयह पढ़ें: Happy Independence Day 2019: स्वतंत्रता दिवस पर दोस्तों को भेजें ये शुभकामना संदेश

English summary
PM Modi paid tributes to Sushma Swaraj, who died last week, at a condolence meeting in New Delhi.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X