• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

19 मिनट के संबोधन में पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के दिए 5 मूल मंत्र

|

नई दिल्ली, 20 अप्रैल: देश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया है। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कोरोना के बढ़ते मामलों, लॉकडाउन, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी और मजदूरों के पलायन जैसी तमाम बातें की हैं। उन्होंने ये भी कहा कि जिस दर्द से देश गुजर रहा है, उसका उनको भी अहसास है। पीएम मोदी ने 19 मिनट के अपने संबोधन में ये पांच बड़े मंत्र दिए हैं।

    PM Modi address nation: PM Narendra Modi के संबोधन की बड़ी बातें | Coronavirus | वनइंडिया हिंदी

    PM Narendra Modi address the nation on Coronavirus situation speech highlights

    ऑक्सीजन की कमी को स्वीकारते हुए उत्पादन पर जोर

    पीएम ने कहा कि इस बार कोरोना संकट में देश के अनेक हिस्से में ऑक्सीजन की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ी है। इस विषय पर तेजी से और पूरी संवेदनशीलता के साथ काम किया जा रहा है। केंद्र सरकार, राज्य सरकारें, प्राइवेट सेक्टर, सभी की पूरी कोशिश है कि हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन मिले। ऑक्सीजन प्रॉडक्शन और सप्लाई को बढ़ाने के लिए भी कई स्तरों पर उपाय किए जा रहे हैं। राज्यों में नए ऑक्सीजन प्लांट्स हों, एक लाख नए सिलेंडर पहुंचाने हों, औद्योगिक इकाइयों में इस्तेमाल हो रही ऑक्सीजन का मेडिकल इस्तेमाल हो, ऑक्सीजन रेल हो, हर प्रयास किया जा रहा है।

    स्वास्थ्यकर्मियों का बढ़ाया मनोबल

    अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ देश आज फिर बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। कुछ सप्ताह पहले तक स्थितियां संभली हुई थीं और फिर ये कोरोना की दूसरी वेव तूफान बनकर आ गई। हमारे स्वास्थ्यकर्मी एक बार फिर कमाल का काम कर रहे हैं।

    वैक्सीन पर जोर

    वैक्सीन को लेकर पीएम ने कहा, हमारे वैज्ञानिकों ने दिन-रात एक करके बहुत कम समय में देशवासियों के लिए वैक्सीन विकसित की हैं। दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन भारत में है। भारत की कोल्ड चेन व्यवस्था के अनुकूल वैक्सीन हमारे पास है। कल ही वैक्सीनेशन को लेकर एक और अहम फैसला लिया गया है। एक मई के बाद से, 18 वर्ष के ऊपर के किसी भी व्यक्ति को वैक्सीनेट किया जा सकेगा। अब भारत में जो वैक्सीन बनेगी, उसका आधा हिस्सा सीधे राज्यों और अस्पतालों को भी मिलेगा।

    जागरुकता से लॉकडाउन रोकने का मंत्र

    पीएम ने कहा कि आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है। मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें। लॉकडाउन से बचने की भरपूर कोशिश करनी है। माइक्रो कन्टेनमेंट जोन पर ही ध्यान केंद्रित करना है। आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है। मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें।

    युवाओं और बालमित्रों के जरिए कोरोना गाइडलाइंस पालन करवाने पर जोर

    प्रधानमंत्री ने युवओं से कहा, मेरा युवा साथियों से अनुरोध है की वो अपनी सोसायटी में, मौहल्ले में, अपार्टमेंट्स में छोटी छोटी कमेटियां बनाकर कोविड अनुशासन का पालन करवाने में मदद करे। हम ऐसा करेंगे तो सरकारों को न कंटेनमेंट ज़ोन बनाने की ज़रुरत पड़ेगी, न कर्फ़्यू लगाने की, न लॉकडाउन लगाने की: अपने बाल मित्रों से एक बात विशेष तौर पर कहना चाहता हूं। मेरे बाल मित्र, घर में ऐसा माहौल बनाएं कि बिना काम, बिना कारण घर के लोग, घर से बाहर न निकलें। आपकी जिद बहुत बड़ा परिणाम ला सकती है।

    ऑक्सीजन की कमी पर बोले पीएम मोदी- प्रोडक्शन और सप्लाई बढ़ाने के कई स्तरों पर हो रहे उपायऑक्सीजन की कमी पर बोले पीएम मोदी- प्रोडक्शन और सप्लाई बढ़ाने के कई स्तरों पर हो रहे उपाय

    English summary
    PM Narendra Modi address the nation on Coronavirus situation speech highlights
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X