• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Coronavirus: PM मोदी का राज्यों को सुझाव, 'अंतिम विकल्प के रूप में ही लॉकडाउन का करें इस्तेमाल'

|

नई दिल्ली, अप्रैल 20। कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (20 अप्रैल) देश को संबोधित किया। पीएम मोदी के संबोधन से पहले संभावना जताई जा रही थी कि वह जनता से कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर अधिक सावधानी बरतने और कोविड गाइडलाइन का पालन करने की अपील कर सकते हैं। हालांकि पीएम मोदी ने जनता से अपील तो की ही लेकिन मेडिकल ऑक्सीजन की कमी और टीकाकरण को लेकर बात की। बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़े प्रकोप को लेकर इस साल पीएम मोदी का यह पहला संबोधन है। इससे पहले उन्होंने कोविड-19 की स्थिति पर मुख्यमंत्रियों और राज्यपालों संग बैठक की थी।

    PM Modi address nation: PM Narendra Modi के संबोधन की बड़ी बातें | Coronavirus | वनइंडिया हिंदी

    PM Modi addressed the country regarding Coronavirus

    पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत कोविड से मरने वाले लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त कर की। उन्होंने कहा, 'कोरोना के खिलाफ देश आज फिर बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। कुछ सप्ताह पहले तक स्थितियां संभली हुई थीं और फिर ये कोरोना की दूसरी वेव तूफान बनकर आ गई। जो पीड़ा आपने सही है, जो पीड़ा आप सह रहे हैं, उसका मुझे ऐहसास है। जिन लोगों ने बीते दिनो में अपनो को खोया है, मैं सभी देशवासियों की तरफ़ से उनके प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूँ। परिवार के एक सदस्य के रूप में, मैं आपके दुःख में शामिल हूं। चुनौती बड़ी है लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प, हौसले और तैयारी के साथ इसको पार करना है।'

    पीएम मोदी ने आगे कहा, 'इस बार कोरोना संकट में देश के अनेक हिस्से में ऑक्सीजन की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ी है। इस विषय पर तेजी से और पूरी संवेदनशीलता के साथ काम किया जा रहा है। केंद्र सरकार, राज्य सरकारें, प्राइवेट सेक्टर, सभी की पूरी कोशिश है कि हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन मिले। ऑक्सीजन प्रॉडक्शन और सप्लाई को बढ़ाने के लिए भी कई स्तरों पर उपाय किए जा रहे हैं। राज्यों में नए ऑक्सीजन प्लांट्स हों, एक लाख नए सिलेंडर पहुंचाने हों, औद्योगिक इकाइयों में इस्तेमाल हो रही ऑक्सीजन का मेडिकल इस्तेमाल हो, ऑक्सीजन रेल हो, हर प्रयास किया जा रहा है। हम सभी का प्रयास, जीवन बचाने के लिए तो है ही, प्रयास ये भी है कि आर्थिक गतिविधियां और आजीविका, कम से कम प्रभावित हों। वैक्सीनेशन को 18 वर्ष की आयु के ऊपर के लोगों के लिए शुरू करने से शहरों में जो हमारी वर्कफोर्स है, उसे तेजी से वैक्सीन उपलब्ध होगी।'

    अंतिम विकल्प के रूप में ही लगाएं लॉकडाउन
    लॉकडाउन के फैसले को लेकर पीएम मोदी ने राज्यों से कहा, आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है। मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें। लॉकडाउन से बचने की भरपूर कोशिश करनी है। माइक्रो कन्टेनमेंट जोन पर ही ध्यान केंद्रित करना है। मेरा राज्य प्रशासन से आग्रह है कि वो श्रमिकों का भरोसा जगाए रखें, उनसे आग्रह करें कि वो जहां हैं, वहीं रहें। राज्यों द्वारा दिया गया ये भरोसा उनकी बहुत मदद करेगा कि वो जिस शहर में हैं वहीं पर अगले कुछ दिनों में वैक्सीन भी लगेगी और उनका काम भी बंद नहीं होगा।

    यह भी पढ़ें: सीएम भूपेश बघेल ने बस्तर संभाग में कोरोना की रोकथाम और इलाज की स्थिति की समीक्षा की

    English summary
    PM Modi addressed the country regarding Coronavirus
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X