• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

प्लाज्मा थैरेपी जादू की गोली नहीं है, इसने मृत्यु दर को कम नहीं किया हैः डा. गुलेरिया

|

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में प्लाज्मा थैरेपी की उपयोगिता को लेकर भारतीय मेडिकल अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा किए गए अध्ययन पर दिल्ली एम्स निदेशक डा. रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि प्लाज्मा कोई जादू की गोली नहीं हैं, जहां यह उपयोगी हो सकता है वहां इसे दिया गया है, लेकिन जरूरी नहीं है कि यह सभी रोगी इससे लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि यदि समय उचित हो, तो उपचार में यह उपयोगी हो सकता है वरना नहीं।

plasma

ब्राजील में एक वालंटियर की मौत के बाद भी जारी रहेगा आक्सफोर्ड वैक्सीन का ट्रायलः रिपोर्ट

गौरतलब है अभी तक कोरोना पीड़ित गंभीर मरीज के इलाज में प्रभावी मानी जा रही प्लाज्मा थैरपी को सरकार बंद करने पर विचार कर रही है। यही नहीं, प्लाज्मा थैरेपी को कोरोना उपचार विधि से हटाने की भी चर्चा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को जानकारी देते हुए बताया था कि जल्द देश में कोरोना के इलाज के लिए प्लाज्मा थैरेपी देना बंद हो सकता है।

plasma

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के सामने दो स्थानीय आतंकी सिराजुद्दीन और आबिद ने सरेंडर किया

प्लाज्मा थैरेपी की उपयोगिता पर रोशनी डालते हुए डा. गुलेरिया ने बताया कि आईसीएमआर अध्ययन में बड़ी संख्या में ऐसे रोगियों को प्लाज्मा थैरपी दी गई, जिनमें पहले से ही एंटीबॉडीज थे। उन्होंने कहा, अगर आपके पास पहले से ही एंटीबॉडीज हैं, तो इसे बाहर से देने से बहुत फायदा नहीं हो सकता है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अभी और ज्यादा डेटा देखने की जरूरत है, इसलिए अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

plasma

उल्लेखनीय है आईसीएमआर के महानिदेशक डा. बलराम भार्गव ने कहा है कि प्लाज्मा थैरेपी कोविड-19 प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय क्लीनिक्ल प्रोटोकॉल से प्लाज्मा थैरेपी को हटाया जा सकता है। हालांकि मामले पर दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार मामले में राजनीति कर रही है।

थाइलैंड में हटा आपातकाल, प्रदर्शनकारियों ने इस्तीफे के लिए प्रधानमंत्री को दिया अल्टीमेटम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
On the study done by the Indian Council of Medical Research (ICMR) on the usefulness of plasma therapy in the treatment of corona infected patients, Delhi AIIMS Director Dr. Randeep Guleria has said that plasma is not a magic pill where it can be useful. It has been given, but not necessarily all patients will benefit from it. He said that if the time is appropriate, it can be useful in the treatment or not.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X