• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पहलू खान मॉब लिंचिंग केस: बेटों सहित गवाहों पर जानलेवा हमला, बिना नंबर प्‍लेट की गाड़ी से आए थे हमलावर

|
Google Oneindia News

अलवर। राजस्थान के अलवर में पिछले साल मॉब लिंचिंग का शिकार हुए पहलू खान की हत्या के चश्मदीद गवाहों पर जानलेवा हमला हुआ है। ये हमला अलवर में एनएच-8 पर उस समय हुआ जब सभी गवाह हरियाणा के नूह से एक गाड़ी से कोर्ट में गवाही देने बहरोड़ जा रहे थे। इस दौरान हमलावरों ने फायरिंग की। इस हमले में सभी गवाह सुरक्षित बच गए। मुख्‍य गवाह का नाम इरशाद है और उसके साथ गवाब अजमत, रफीकस आरिफ और मानव अधिकार कार्यकर्ता असद हयात भी घटना के वक्त मौजूद थे। बदमाश बिना नबंर की एक गाड़ी में सवार होकर आए बताए जा रहे हैं। पुलिस ने अभी तक फायरिंग की पुष्टि नहीं की है। पुलिस इसकी जांच पड़ताल में जुटी है। विस्‍तार से जानिए पूरा मामला

गाड़ी न रोकने में दूसरी गाड़ी में सवार युवक ने फायर कर दिया

गाड़ी न रोकने में दूसरी गाड़ी में सवार युवक ने फायर कर दिया

इरशाद ने बताया कि आज सुबह करीब 9 बजे एनएच 8 पर बहरोड़ के पास एक गाड़ी ने उन्हे रुकने के लिए कहा। गाड़ी न रोकने में दूसरी गाड़ी में सवार युवक ने फायर कर दिया। जिसके बाद वे गाड़ी दौड़ा के बहरोड़ की तरफ चले गए। वहीं इरशाद साथी गवाहों के साथ गाड़ी अलवर वापस आ गया। ये सभी लोग गवाही देने बहरोड़ कोर्ट जा रहे थे। पुलिस का कहना है कि पूरे मामले की गहनता से जांच की जाएगी। साथ ही हाइवे पर लगे सीसीटीवी कैमरे भी चैक किए जाएंगे।

अप्रैल 2017 में हुई थी मॉब लिंचिंग की घटना

अप्रैल 2017 में हुई थी मॉब लिंचिंग की घटना

बता दें कि साल 2017 के अप्रैल माह में राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षकों की एक भीड़ ने गायें लेकर जा रहे कुछ लोगों की बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। इस पिटाई में 55 वर्षीय पहलू खान को गंभीर चोटें आयी थीं, जिससे उनकी मौत हो गई थी। इस हादसे में कई लोगों को चोटें भी आयीं थी। वहीं इस घटना में घायल हुए पहलू खान के बेटे इरशाद का कहना है कि उनका डेयरी का कारोबार है और वह जयपुर से गाय और भैंस दूध बढ़ाने के लिए खरीदकर ला रहे थे। लेकिन कथित गौ-रक्षकों ने उन्हें गौ-तस्कर समझ लिया और उन पर हमला कर दिया। घटना के 2 दिन बाद पहलू खान की मौत हो गई थी। इस घटना के बाद पूरे देश में मॉब लिंचिंग का यह मामला सुर्खियों में आ गया था।

नामजद 6 आरोपियों को क्लीन चिट दे दी थी

नामजद 6 आरोपियों को क्लीन चिट दे दी थी

राजस्थान पुलिस ने इस मामले में नामजद 6 आरोपियों को क्लीन चिट दे दी थी। इस पर पहलू खान के परिजनों ने आपत्ति जतायी थी और उच्च स्तरीय स्तर पर इस मामले की जांच की मांग की थी। फिलहाल पहलू खान की हत्या के मामले में 9 लोग आरोपी हैं। 6 लोगों को क्लीन चिट दिए जाने के मुद्दे पर राजस्थान पुलिस ने कहा कि मौके पर मौजूद लोगों द्वारा दिए गए बयानों, फोटो, मोबाइल फोन लोकेशन आदि की जांच के बाद ही क्लीन चिट दी गई है। उल्लेखनीय है कि पहलू खान ने अपनी मौत से पहले भीड़ में शामिल लोगों के नाम बताए थे, जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी की थी।

English summary
Pehlu Khan lynching case: Witnesses, including sons, fired at while going to depose.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X