• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पालघर: साधुओं की निर्मम हत्या के विरोध में उमा भारती ने रखा व्रत, सीएम उद्धव को पत्र लिख कर बोली ये बात

|

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के पालघर में भीड़ द्वारा जूना अखाड़े के साधुओं को मार-पीटकर हत्‍या जैसी घटना से एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई है। साधुओं की निर्मम हत्‍या करने वाले हत्‍यारों और अन्‍य दोषियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की मांग हर तरफ से उठ रही हैं। मॉब लिंचिंग की इस घटना के बाद लोगों के अंदर जबरदस्त गुस्सा है, सोशल मीडिया पर लोग इस दर्दनाक और शर्मनाक घटना की निंदा कर रहे हैं और साधु समाज के लोगों में काफी रोष हैं।

uma
वहीं अब भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर साधुओं की निर्मम हत्या करने वाले दोषियों और मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। इसके अलावा पू्र्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस घटना के विरोध में उपवास भी रखा है और देश के सभी साधु संतों से भी उपवास की अपील भी की है।
सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र में लिखी ये भी बात

सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र में लिखी ये भी बात

उमा भारती ने महाराष्‍ट्र को भेजे गए पत्र में लिखा कि महाराष्ट्र में साधुओं की हत्या करने वाले दोषियों दंडित करना ही होगा. साथ ही उन पुलिसकर्मियों पर भी 302 का मुकदमा होना चाहिए जिन्होंने साधुओं को बचाने के बजाये उन्हें भीड़ के हवाले छोड़ दिया था। पुलिस वाले चाहते तो हवाई फायरिंग करके साधुओं की जान बचा सकते थे। उमा भारती ने सीएम से अनुरोध किया कि उन सभी पुलिसवालों समेत हत्यारों को कड़ा दंड दिया जाए अन्यथा आप स्वयं भी इस पाप के भागीदार होंगे। उन्‍होंने पत्र में ये भी लिखा कि आप एक महान व्‍यकित की संतान और खुद भी साधुओं का सम्‍मान करने वाले व्‍यक्ति हैं।

    Palghar Lynching के विरोध में Uma ने रखा व्रत, Pawar ने घटना को बताया Unfortunate | वनइंडिया हिंदी
    तीन साधुओं की पीट-पीटकर मार डाला था

    तीन साधुओं की पीट-पीटकर मार डाला था

    बता दें कि बता दें महाराष्ट्र के पालघर में जूना अखाडा के दो साधुओं सहित तीन लोगों को 16 अप्रैल की रात को पालघर के गंडचिन्चले गाँव के बाहर मौत के घाट उतार दिया गया था।गुरुवार को ग्रामीणों ने तीन लोगों को चोर समझकर पीट-पीटकर मार डाला था। मृतकों की पहचान 35 वर्षीय सुशीलगिरी महाराज, 70 वर्षीय चिकणे महाराज कल्पवृक्षगिरी और30 वर्षीय निलेश तेलगड़े के रूप में हुई है, निलेश साधुओं का ड्राइवर था। ये तीनों लोग मुंबई से सूरत किसी की अंत्‍येष्टि में शामिल होने जा रहे थे। पालघर जिले के एक गांव में 100 से ज्यादा लोगों की भीड़ इन पर टूट पड़ी।

    बच्‍चा चोर बताकर किया हमला

    बच्‍चा चोर बताकर किया हमला

    ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ी पर भी हमला किया था, बताया गया है कि इस पूरे इलाके में कुछ दिनों से बच्‍चा चोर गिरोह की अफवाह फैली हुई थी। बस लोगों ने इन्‍हें इसी गिरोह से संबंधित समझा और बिना सोचे समझे हमला करना शुरु कर दिया और तीनों को पीट-पीटकर मार डाला। यह पूरी घटना वहां मौजूद कुछ पुलिसकर्मियों के सामने हुई। आरोपियों ने साधुओं के साथ एक ड्राइवर और पुलिसकर्मियों पर भी हमला किया। हमले के बाद साधुओं को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने मामले 110 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

    110 लोगों की हो चुकी है गिरफ्तारी

    110 लोगों की हो चुकी है गिरफ्तारी

    बता दें उमा भारती ने कहा कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद वह घटनास्थल पर जाने की बात कही हैं। इस मामले में अब तक 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है और दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। अब तक पुलिस ने 110 लोगों की गिरफ्टतारी हो चुकी हैं। वहीं महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने पालघर में जांच की मांग की है उन्‍होंने कहा कि इस मामले में पुलिस की भूमिका की भी जांच होनी चाहिए।

    पालघर की घटना पर भड़के गौतम गंभीर ने कहा-इंसान की खाल ओढ़े जानवर घूम रहे हैं

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Palghar: Uma Bharti told CM Uddhav in protest against the ruthless killing of sadhus - you will also be a partner of sin if you do not get severe punishment
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X