• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सरकारी कर्मचारियों को निशाना बना रहे पाकिस्तानी हैकर्स, इस तरह चोरी कर रहे Email-Password

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 12 जून। आज के समय में इंटरनेट हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है, हम अपनी पर्सनल से प्रोफेशनल हर तरह की जानकारी इंटरनेट पर कही ना कही साझा करते हैं, हैकर्स की नजर हमेशा हमारे डेटा पर होती है। बीते दिनों कोविड वैक्सीन को लेकर शुरू किए गए कोविन पोर्टल पर हैकर्स के हमले की खबर से हड़कंप मच गया था, हालांकि केंद्र सरकार ने ऐसे किसी भी दावे को खारिज कर दिया था। लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि हैकर्स को किसी की भी निजी जानकारी कैसे और कहां से मिलती है।

Pakistani hackers targeting government employees, this stealing Email-Password

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक हाल ही में भारत सरकार ने अपने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि एयर इंडिया, डोमिनोज और बिग बास्केट के हालिया डेटा उल्लंघनों के कारण केंद्र सरकार के सैकड़ों अधिकारियों के ईमेल और पासवर्ड हैकर्स के सामने आ गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि @nic.in और @gov.in जैसे सरकारी डोमेन वाले संदिग्ध ईमेल संभावित साइबर खतरे की ओर इशारा करते हैं। इनका उपयोग 'दुश्मनों' द्वारा सभी सरकारी यूजर्स को दुर्भावनापूर्ण मेल भेजने के लिए किया जा रहा है।

10 जून को अलर्ट भेजे जाने के कुछ दिनों बाद रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों सहित कई सरकारी ऑफिसों में काम करने वाले कर्मचारियों को व्हाट्सएप और एसएमएस पर एक संदिग्ध वेब लिंक द्वारा टारगेट किया गया जिसमें लिखा था कि इस लिंक पर क्लिक कर अपनी टीकाकरण की स्थिति की जानकारी को अपडेट करें। मैसेज में अधिकारियों से कहा गया कि वे https://covid19india.in पर क्लिक करके COVID-19 टीकाकरण का एक डिजिटल प्रमाणपत्र तैयार करें।

यह भी पढ़ें: कोरोना से हुई मौतों का सही आंकड़ा सामने लाने के लिए दोबारा जांच कराएं राज्य- एम्स प्रमुख गुलेरिया

इस लिंक को खोलने पर अधिकारियों को @gov.in उल्लेखित पोर्टल नजर आता है जो सरकारी वेबसाइट mygov.in से मिलता-जुलता है। इसके अलावा संदिग्ध पोर्टल पर आधिकारिक ई-मेल और पासवर्ड भी डालने के लिए कहा गया। साइबर शोधकर्ता राजशेखर राजहरिया के अनुसार वेबसाइट को जून में पाकिस्तान में होस्ट किया गया था। संदिग्ध पोर्टल में nic.in ईमेल आईडी का उल्लेख किया गया था जिससे अधिकारी को यह विश्वास हो सके कि यह एक सरकारी पेज है। इसके मकसद सिर्फ अधिकारियों से उनकी ई-मेल और पासवर्ड निकलवाना था, साथ ही सरकारी प्रणालियों की खूफिया जानकरी प्राप्त करना।

English summary
Pakistani hackers targeting government employees, this stealing Email-Password
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X