• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सीमा विवाद के बावजूद दोस्ती निभा रहा भारत, नेपाल को दी 41 हाईटेक एंबुलेंस

|

नई दिल्ली: लद्दाख में पिछले 5 महीने से चीन के साथ भारत का विवाद जारी है। इस बीच नेपाल भी भारत के साथ पुरानी दोस्ती भूलाकर चीन का साथ दे रहा है। हाल ही में नेपाल और भारत के बीच सीमा को लेकर कई बार विवाद भी हुआ। इसके बावजूद भी भारत की ओर से लगातार नेपाल की मदद की जा रही है। अब भारत ने पुराने दोस्त नेपाल को 41 एंबुलेंस की सौगात दी है।

nepal

काठमांडु में स्थित भारतीय दूतावास के मुताबिक महात्मा गांधी की 151वीं जयंती पर भारत ने नेपाल को 41 एंबुलेंस गिफ्ट किए हैं। ये एंबुलेंस नेपाल की सरकार और वहां के NGO को मिले हैं, जो नेपाल के 29 जिलों में सेवाएं देंगे। कोरोना काल में भारत का ये योगदान पड़ोसी देश के लिए काफी अहम हैं, क्योंकि वहां पर भी कोरोना महामारी फैली है, जबकि स्वास्थ्य सेवाएं उतनी बेहतर नहीं हैं।

चीन में नेपाल के राजदूत ने भारत के बारे में ऐसा क्या कह दिया कि हो गया विवाद

    India-Nepal Dispute: भारत से भिड़ने की तैयारी में नेपाल? Kalapani में बना रहा बैरक | वनइंडिया हिंदी

    पिछले महीने की थी करोड़ों की मदद

    भारत ने पिछले महीने नेपाल में घरों और स्कूलों के निर्माण के लिए 96 करोड़ रुपये की सहायता राशि जारी की थी। भारत सरकार ने ऐसा करके भूकंप के बाद निर्माण कार्यों के लिए भी मदद देने का अपना पुराना वादा निभाया है। काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास की ओर से पिछले महीने जारी बयान में कहा गया था कि भारतीय दूतावास के डिप्टी चीफ नामग्या खाम्पा ने 154 करोड़ रुपये (नेपाली) का चेक नेपाल के वित्त मंत्रालय के सचिव शिशिर कुमार धुंगाना को सौंपा है। वहीं इस हैंडओवर के साथ भारत ने नेपाल सरकार को हाउसिंग सेक्टर के पुनर्निमाण के लिए 7.2 करोड़ डॉलर का अनुदान पूरा कर दिया है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    on Gandhi Jayanti India gifted 41 Ambulances to Nepal government
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X