• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

OMG! वायु प्रदूषण ने पिछले वर्ष ले ली 16.67 लाख लोगों की जान, 1.16 नवजात की हुई मौत

|

नई दिल्ली। सर्दी का मौसम शुरू होते ही आकाश में प्रदूषित धुओं की मोटी चादर से राजधानी दिल्ली का आसमान छिप गया था। यह इंसान स्वास्थ्य के लिए घातक है, इसकी तस्दीक वर्ष 2019 में वायु प्रदूषण से मौत के शिकार हुए आंकड़े करते हैं। वायु प्रदूषण का बड़ा असर नवजात शिशुओं पर पड़ रहा है और 2019 में इसने 1 लाख से अधिक नवजात शिशुओं की जान ले ली है, जबकि 16 लाख से अधिक लोगों की जिंदगी छीनने के लिए जिम्मेदार है।

Air

ब्रिटेन ने वैक्सीन रेस में आगे बढ़ने के लिए मानव चुनौती को मंजूरी दी, जानिए क्या है मानव चुनौती?

यह खुलासा स्टेट ग्लोबल एयर 2020 (एसओजीए) रिपोर्ट में हुआ है, जिसके मुताबिक बाह्य और घरेलू वायु प्रदूषण लंबे समय के लिए जोखिम बनकर उभरा है, जिसके संपर्क में आए लोगों को स्ट्रोक, दिल का दौरा, मधुमेह, फेफड़ों का कैंसर व बीमारियां हो रही हैं, जिससे वर्ष 2019 में अकेले 16,67000 की असामयिक मौत हो गई। बुधवार को रिलीज रिपोर्ट बताती है कि वायु प्रदूषण अब सभी स्वास्थ्य जोखिमों के बीच मौतों का सबसे बड़ी वजह बनती जा रही है।

Air

बोरिस जॉनसन ने कहा 1.43 करोड़ रुपए के वेतन पर जिंदा नहीं रहेंगे, दे सकते हैं इस्तीफा

रिपोर्ट में सबसे बड़ी चिंता की बात जो कही गई है, वह यहै कि वायु प्रदूषण भारत समेत दुनिया भर नवजात शिशुओं की मौत में बड़ी भूमिका निभा रहा है। वर्ष 2019 में भारत में सभी कारणों से हुई नवजात शिशुओं की मौत में वायु प्रदूषण से हुई नवजात शिशुओं की मौत में योगदान 21 फीसदी रहा है।

Air

बिहार में चुनावी रैली में राजनाथ सिंह ने कहा, 'लालटेन फूट गई और तेल बह गई है'

यानी 2019 में भारत में कुल 1 लाख 16 हजार नवजात शिशुओं की मौत की वजह वायु प्रदूषण था। इससे संकेत मिले हैं कि वायु प्रदूषण प्रीमेच्योर डिलीवरी और जन्म के समय शिशुओं के कम वजन के लिए दोषी हैं।

हाथरस में गिरफ्तार पत्रकार सिद्दीकी के परिवार से वायनाड में मिले राहुल गांधी, दिया मदद का भरोसा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
As the winter season began, the sky of the capital Delhi was hidden by a thick sheet of polluted smoke in the sky. This human being is fatal to health, according to its figures in the year 2019, killed by air pollution. Air pollution is having a major impact on newborns and in 2019 it has killed more than 1 lakh newborns, while responsible for snatching the lives of over 16 lakh people.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X