• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बोले अमित शाह-'कश्मीर में बिना खून का एक बूंद बहाए हुए शांति से चुनाव', कांग्रेस पर साधा निशाना

|

None had the courage to abrogate the provisions of Article 370 in Jammu-Kashmir: Amit Shah: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज कर्नाटक के बागलकोट के एक कार्यक्रम में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का काम केवल आरोप लगाना है,आप लोग उन पर भरोसा ना कीजिए, वो केवल भड़काने का काम करती है, उसका काम ही है केवल भ्रम फैलाना।

बोले अमित शाह-कश्मीर में बिना खून बहाए हुए चुनाव

उन्होंने कहा कि कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाने की 70 साल से किसी की हिम्मत नहीं थी। 5 अगस्त 2019 को PM मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A को समाप्त करके कश्मीर को हमेशा के लिए भारत से जोड़ने का काम किया है। आज कश्मीर पूरी तरह से इंडिया का हिस्सा है।

कश्मीर का नागरिक विकास चाहता है: अमित शाह

वहां को लोग खुश हैं, कश्मीर का नागरिक विकास चाहता है, तभी तो आज वहां खून का एक कतरा बहाए बिना चुनाव हुए हैं। मोदी सरकार देश के नागरिकों का केवल भला ही चाहती है। उसके फैसले देश हित के लिए ही है। लेकिन कुछ लोग केवल लोगों को भ्रमित करने का काम करते हैं। मालूम हो कि अमित शाह कश्मीर में हुए डीडीसी इलेक्शन की बात कर रहे थे।

किसानों के भले के लिए है कृषि कानून

आपको बता दें कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह कर्नाटक के दौरे पर हैं, जहां रविवार को उन्होंने बागलकोट जिले के करकलमट्टी गांव में केदारनाथ शुगर एंड एग्रो प्रोडक्ट्स लिमिटेड की इथेनॉल परियोजना का उद्घाटन किया। इसके बाद जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के मैदान में आयोजित सार्वजनिक रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने नए कृषि कानूनों को भी किसानों के लिए फायदेमंद बताया। उन्होंने आगे कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। तीनों कृषि कानून किसानों की आय को कई गुना बढ़ाने में मदद करेंगे। अब किसान देश और दुनिया में कहीं भी कृषि उत्पाद बेच सकते हैं।

यह पढ़ें: Karnataka: कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस पर बरसे अमित शाह, पूछा- आपकी सरकार क्यों नहीं लाई फसल बीमा योजना?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Amit Shah also said none had the courage to abrogate the provisions of Article 370 and Article 35A in Kashmir in the past 70 years.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X