• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोविड की तीसरी लहर में बच्चों में दिख सकते हैं संक्रमण के अलग-अलग मामले: नीति आयोग

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 18 जून। देश में लगातार आ रहे कोरोना वायरस मामलों से केंद्र और राज्य सरकारों ने राहत की सांस ली है। शुक्रवार की ब्रीफिंग में स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 7,98,656 हो गई है। पिछले 3 दिनों में सक्रिय मामलों में 1,14,000 की कमी आई है। अब रिकवरी दर बढ़कर 96% हो गई है। हम हर रोज 18.4 लाख कोरोना टेस्ट कर रहे हैं। वहीं, 22 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग गई है और 5 करोड़ से अधिक दूसरी डोज लगाई गई है।

    Covid 19 Third Wave: Dr VK Paul बोले- Children में दिख सकते हैं संक्रमण के मामले | वनइंडिया हिंदी

    NITI Aayog said In the third wave of Covid19 different cases of infection can be seen in childrens

    लव अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आगे बताया कि कोरोना वायरस के दैनिक मामलों में लगातार गिरावट देखी जा रही है, पिछले 24 घंटे में देश में 62,480 नए मामले सामने आए हैं। पिछले 11 दिनों से एक लाख से कम मामले रिपोर्ट हो रहे हैं। कोरोना मामलों के पीक में 85% की कमी देखी गई है। 3 मई से रिकवरी दर में वृद्धि दर्ज की जा रही है, वर्तमान में यह 96 प्रतिशत है। 11 जून से 17 जून के बीच 513 जिलों में कुल पॉजिटिव केस 5 फीसदी कम सामने आए।

    नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल की तरफ से जानकारी दी गई कि अध्ययनों से पता चलता है कि टीकाकरण वाले व्यक्तियों में अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 75-80 फीसदी कम होती है। वैक्सीनेश करा चुके कोरोना संक्रमित मरीजों में ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखने की आवश्यकता होने की संभावना लगभग 8 प्रतिशत होती है। वहीं, टीकाकरण वाले व्यक्तियों में आईसीयू में प्रवेश का जोखिम सिर्फ 6 फीसदी होता है।

    यह भी पढ़ें: ओडिशा: वैक्सीन ले चुके लोगों में फिर हो रहा है कोरोना संक्रमण, सरकार ने जांच के लिए गठित की टेक्निकल कमेटी

    दूसरी लहर में बच्चे भी हुए संक्रमित
    डॉ वीके पॉल ने आगे कहा, WHO-AIIMS की स्टडी से पता चलता है कि 18 वर्ष से कम और 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों में सेरोपोसिटिविटी या एंटीबॉडीज लगभग बराबर होती है। 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों और 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों में सेरोपोसिटिविटी दर 67% और 59% है। शहरी क्षेत्रों में यह 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों में 78 फीसदी और 18 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों में 79 फीसदी है। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों में सेरोपोसिटिविटी दर 56% और 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों में 63% पाई गई। जानकारी से पता चलता है कि कोरोना वायरस से बच्चे भी संक्रमित थे लेकिन उनमें बहुत हल्के लक्षण पाए गए। कोविड की तीसरी लहर के दौरान बच्चों में संक्रमण के अलग-अलग मामले हो सकते हैं।

    English summary
    NITI Aayog said In the third wave of Covid19 different cases of infection can be seen in children
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X