• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Nirbhaya Gang Rape Case: निर्भया के दोषियों ने लगाई क्यूरेटिव याचिका

|

नई दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में फांसी की सजा का सामना कर रहे दोषी अक्षय, विनय और पवन ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका लगाई है ,निर्भया गैंगरेप के दोषियों ने तिहाड़ जेल प्रशासन को अपना जवाब दे दिया, गौरतलब है कि कोर्ट के आदेश पर तिहाड़ जेल प्रशासन ने चारों दोषियों को नोटिस जारी किया था।

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी अक्षय की पुनर्विचार याचिका

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी अक्षय की पुनर्विचार याचिका

मालूम हो कि इससे पहले निर्भया गैंगरेप के गुनाहगार अक्षय ठाकुर की पुनर्विचार याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था, सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि निर्भया केस में जांच और ट्रायल बिल्कुल सही हुआ, दोषियों ने इस पर सवाल उठाए थे, इस मामले में सुनवाई के दौरान अक्षय के वकील ने निर्भया के दोस्त के कथित खुलासे का हवाला दिया था, जिसे कि कोर्ट ने इसे अप्रासंगिक बताया था।

यह पढ़ें: Solar Eclipse 2019: सूर्यग्रहण प्रारंभ, देखें कोच्चि से आई ये पहली तस्वीर

एक दोषी की हो चुकी है मौत

एक दोषी की हो चुकी है मौत

गौरतलब है कि निर्भया गैंगरेप मामले में में छह दोषियों में से एक की जेल में ही मौत हो चुकी है, जबकि एक नाबालिग दोषी सजा काटकर जेल से बाहर आ चुका है, 16 दिसंबर 2012 की रात हुई इस बर्बर घटना से देश स्‍तब्‍ध रह गया था, जटिल लंबी कानूनी प्रक्रिया के बाद अब यह मामला अपने अंजाम तक पहुंचता दिख रहा है। सामूहिक दुष्‍कर्म व हत्‍या के इस मामले में दोषी मुकेश, पवन शर्मा, अक्षय ठाकुर और विनय शर्मा को फांसी देने की तैयारी हो रही है।

तिहाड़ जेल

तिहाड़ जेल

वैसे मीडिया सूत्रों के मुताबिक निर्भया गैंगरेप के दोषियों को फांसी देने की तैयारी शुरू हो चुकी है, जिस जगह पर फांसी देनी है, वहां साफ-सफाई का काम भी शुरू हो गया है, जेल ने डमी फांसी का ट्रायल भी किया है, मालूम हो कि तिहाड़ में फांसी का तख्ता जेल नंबर-3 में है, इसी जेल नंबर 3 पर संसद पर हमला करने वाले आतंकवादी अफजल गुरु को रखा गया था। बतातें चले कि गेट नंबर 3 से प्रवेश करते ही दाहिनी ओर फांसी कोठी है, जहां चारों दोषियों को लटकाने की तैयारी चल रही है।

यह पढ़ें: Surya Grahan 2019: भारत ही नहीं विदेश भी बने सूर्यग्रहण के गवाह, देखें दुबई से आई ये पहली तस्वीर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After the Supreme Court rejected review petition of Akshay Kumar Singh, one of the convicts in the 2012 Delhi gangrape case, three of the four convicts have told Tihar authorities that they still have the option of a curative petition before filing the mercy plea.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X