• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

निर्भया केस: दो दोषियों मुकेश और विनय की क्यूरेटिव पिटीशन को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज

|

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप केस के चार में से दो दोषियों विनय कुमार शर्मा और मुकेश ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की थी, जिसे आज सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों जस्टिस एन. वी. रमाना, अरुण मिश्रा, आरएफ नरीमन, आर बनुमथी और अशोक भूषण की बेंच ने 2 दोषियों विनय शर्मा और मुकेश द्वारा दायर याचिकाओं को खारिज कर दिया। चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी हो चुका है।

    Nirbhaya case: Supreme court ने Curative petition खारिज की | वनइंडिया हिंदी

    nirbhaya case: curative petition two convicts supreme court

    पहले, विनय ने फांसी से बचने के आखिरी प्रयास में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की थी, इसके बाद मुकेश ने भी सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की थी। विनय कुमार शर्मा के वकील एपी सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर कर फांसी की सजा पर रोक लगाने की मांग की थी। इस याचिका में विनय की तरफ से कहा गया था कि SC को विचार करना चाहिए कि घटना के समय विनय केवल 19 वर्ष का था। युवावस्था और सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि को देखते हुए मामले की गंभीरता कम करने के फैक्टर के तौर पर इसे लिया जाना चाहिए।

    निर्भया केस: 22 जनवरी को होने वाली पर फांसी पर सस्पेंस, इन दो कारणों से टल सकती है चारों दोषियों की फांसीनिर्भया केस: 22 जनवरी को होने वाली पर फांसी पर सस्पेंस, इन दो कारणों से टल सकती है चारों दोषियों की फांसी

    बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सभी चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी देने का आदेश दिया है। चारों दोषियों को जेल नंबर 3 में फांसी दी जानी है। निर्भया गैंगरेप-मर्डर केस में चारों दोषियों को मौत की सजा सुनाई गई थी। कोर्ट द्वारा डेथ वारंट जारी किए जाने के बाद तिहाड़ जेल में फांसी देने की प्रक्रिया तेज हो चुकी है। रविवार को तिहाड़ जेल में फांसी का डमी ट्रायल भी किया गया।

    बता दें कि 16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली में चलती बस में 6 दरिंदों ने निर्भया से दरिंदगी की थी और उसके बाद उसे बस से नीचे फेंक दिया था। आरोपियों में एक नाबालिग भी था, जिसे जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया था, जबकि एक ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी।

    English summary
    nirbhaya case: supreme court to hear curative petitions filed by two convicts
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X