• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जासूसी के लिए नौसेना अधिकारियों को पैसे भेजने वाले एक पाकिस्तानी हैंडलर को NIA ने गिरफ्तार किया

|

नई दिल्ली। नेशनल इंवेस्टिगेटिव एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को विजैग जासूसी मामला उर्फ 'डॉल्फिन नोज' ऑपरेशन के एक प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसमें कथित तौर पर भारतीय नौसेना के जवानों पर एक पाकिस्तानी हैंडलर को संवेदनशील जानकारी देने का आरोप है।

nia

मुख्य आरोपी हाजी अब्दुल रहमान लकड़ावाला मुंबई का रहने वाला है, जो कि पाकिस्तानी हैंडलर था, जिसके जरिए पाकिस्तान ने कथित तौर पर नौसेना के अधिकारियों को पैसे दिए थे।

म्यांमार ने भारत को सौंपे 22 पूर्वोत्तर विद्रोही, NSA अजीत डोभाल की निगरानी में हुआ ऑपरेशन

nia

गौरतलब है पिछले साल 20 दिसंबर को आंध्र प्रदेश खुफिया विभाग ने भारतीय नौसेना में एक जासूसी रैकेट का भंडाफोड़ किया था और सात नाविकों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार नाविकों में से तीन विशाखापत्तनम से थे जबकि दो करवार नौसैनिक अड्डे से और दो मुंबई के नौसैनिक अड्डे से थे, जिन पर एक पाकिस्तानी हैंडलर को कथित तौर पर नौसैनिक जहाजों और पनडुब्बियों के स्थानों की संवेदनशील सूचना देने का आरोप है।

सरकार ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के लिए मलेशिया को औपचारिक अनुरोध भेजा

nia

सभी सात नाविकों को 2017 में भर्ती किया गया था और सूत्रों ने दावा किया था कि वे सितंबर 2018 में एक हनीट्रैप में फंस गए थे। इन युवकों को पहले तीन या चार महिलाओं द्वारा फेसबुक पर संपर्क किया गया और उन्हें एक ऑनलाइन रिश्ते में फंसाया गया। महिलाओं ने बाद में उन्हें एक ऐसे व्यक्ति से मिलवाया, जो एक व्यापारी के भेष में आया था, लेकिन वास्तव में वह एक पाकिस्तानी हैंडलर था और उसने नाविकों से जानकारी लेना शुरू कर दिया था।

सैनिकों की सेवानिवृत्ति उम्र बढ़ाने की तैयारी में हैं CDS जनरल बिपिन रावत, जानिए, क्या है प्लान?

nia

बताया जाता है कि जिन नाविकों के साथ महिलाओं की चैटिंग होती थी, वे स्वभाव से कामुक थी, जिन्होंने बाद में उन्हें भारतीय युद्धपोतों और पनडुब्बियों की स्थिति और मूवमेंट का खुलासा करने के लिए ब्लैकमेल भी किया था। एक नाविक को हवाला के माध्यम से हर महीने पैसे का भुगतान भी किया जाता था।

रियाज नाइकू की मौत से बौखलाया आंतकी सरगना सैयद सलाहुद्दीन, बोला अब घाटी में चिंगारी फैलेगी

nia

वर्ष 2019 में उस महीने के अंत में आंध्र प्रदेश के काउंटर इंटेलिजेंस सेल ने चार और गिरफ्तारियां कीं। इनमें तीन मुंबई नेवल बेस से थी और एक कारवार नेवल बेस से गिरफ्तारियां की गईं थी। उक्त सभी 11 नाविक सितंबर 2018 में एक हनीट्रैप में फंस गए थे और कथित तौर पर संवेदनशील जानकारी देने के लिए हवाला के माध्यम से धन प्राप्त किया था। इस मामले में मुंबई के एक हवाला ऑपरेटर को भी गिरफ्तार किया गया।

लॉकडाउन में कटहल ने भी बना डाला रिकॉर्ड, गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने की तैयारी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
On 20 December last year, the Andhra Pradesh Intelligence Department busted a spy racket in the Indian Navy and arrested seven sailors. Three of the arrested sailors were from Visakhapatnam, two from Karwar naval base and two from Mumbai naval base, who are accused of allegedly giving sensitive information to a Pakistani handler about the locations of naval ships and submarines.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more