• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

यहां प्रवासियों की वापसी से तेजी से बढ़े Covid-19 के नए मामले, अगला हॉटस्पॉट हो सकता है यह राज्य

|

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से बिहार में नोवल कोरोनावायरस मामलों में आए एक बड़े उछाल संकेत दे रहे हैं। गुरुवार को राज्य में 380 नए मामले सामने आए, जो कि अब तक बिहार में सामने आए कुल मामले का लगभग 25 फीसदी है। बिहार में अब तक कुल लगभग 2,000 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें आधे से अधिक पिछले एक सप्ताह में सामने गए हैं। आंकड़ों के लिहाज से बिहार तेजी से अगले हॉटस्पॉट राज्य के रूप में विकसित हो रहा है।

दिल्ली: 10 दिन में तैयार हुई दुनिया की सबसे बड़ी Covid-19 केयर फैसिलिटी के बारे में सबकुछ जानिए

migrant

गौरतलब है मई महीने की शुरुआत में बिहार में 450 से कम मामले थे, लेकिन चार मई से लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील के बाद जैसे ही प्रवासियों का पलायन शुरू हुआ है, बिहार में मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं। राज्य में पाए जाने वाले ज्यादातर नए मामले उन लोगों में हैं, जो देश के अन्य हिस्सों में अपने कार्यक्षेत्र से अपने गृहनगर लौट रहे थे। मौजूदा समय में बिहार में कोरोनावायरस पॉजिटव में प्रवासी श्रमिकों का औसत आधे से अधिक हो चुका हैं।

migrant

उच्च अनौपचारिक श्रम वाले इन 7 राज्यों में तेजी से बढ़ी है बेरोजगारी दर, जानिए कौन है ये राज्य ?

दिलचस्प बात यह है कि बिहार में 20 अप्रैल के आसपास Covid-19 मामलों के विकास दर में वृद्धि तब देखी गई जब बिहार में मरीजों के आंकड़े 100 को पार कर गए थे। हालांकि बिहार में प्रवासी श्रमिकों के आने से पहले सप्ताह में नए मामलों के दर में कमी आई थी।

migrant

मई के पहले सप्ताह में बिहार में 3.75 फीसदी की वृद्धि दर और 19 दिनों में वृद्धि दर दोगुना था, लेकिन बिहार में तब मामले तेजी से बढ़ने लगे जब अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिकों ने पॉजिटिव टेस्ट करना शुरू कर दिया। अब तक बिहार में सात दिनों की औसत वृद्धि दर 10.32 फीसदी है, जो सात दिनों से भी कम समय का दोगुना समय है, जबकि मामलों का राष्ट्रीय दोहरीकरण समय अभी 13.45 दिन है।

migrant

इस सरकारी योजना के तहत कुल 2000 लाभार्थियों को मिल चुका है Covid-19 का निः शुल्क उपचार

उल्लेखनीय है गुरुवार को नए मामलों में राष्ट्रीय स्तर पर भी बड़ा उछाल आया, जिसमें 6,000 से अधिक मामले पहली बार सामने आए। भारत में पुष्टि किए गए संक्रमणों की कुल संख्या अब 1.16 लाख से अधिक है। महाराष्ट्र जहां पिछले पांच दिनों से लगातार हर दिन 2,000 से अधिक मामले सामने आ रहे थे, गुरुवार को महाराष्ट्र में 2,345 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में अब कुल 41,642 पुष्ट मामले हो गए हैं।

migrant

देश में सभी मामलों के एक तिहाई से अधिक यानी 11,700 से अधिक मरीज अब तक स्वस्थ हुए हैं। इसी तरह तमिलनाडु में भी गुरुवार को बड़ी संख्या में नए मामलों में वृद्धि हुई, जहां कुल 776 नए मामलों सामने आए। नए मामलों के बाद तमिलनाडु में कुल मामलों की संख्या 13,191 पहुंच गई है।

migrant

लॉकडाउन में भारतीय वायरस से कम चिंतित हैं, जानिए उनकी चिंता की बड़ी वजह क्या है?

माना जा रहा है कि गत 4 मई से लॉकडाउन में ढील के बाद संख्या में वृद्धि हुई है, खासकर जब से बड़ी संख्या में लोगों को एक राज्य से दूसरे राज्य में आवाजाही की अनुमति दी गई है। हालांकि इसका प्रभाव 15 मई तक दिखाई नहीं दिया था, लेकिन पिछले एक सप्ताह में भारत की संख्या में हुई स्पष्ट वृद्धि इसके प्रमाण है।

migrant

भारत में सबसे कम है Covid-19 केस का अनुपात, प्रति लाख की जनसंख्या पर हैं सिर्फ 7.1 मामले

भारत में गत 15 मई के बाद 30,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। गत 18 मई को लागू होने वाले लॉकडाउन के चौथे चरण में अधिक गतिविधियां खोले जाने के साथ आने वाले दिनों में ये संख्या और बढ़ने की संभावना है।

अगर लॉकडाउन हटता है, तो भारत की जीडीपी में 20 फीसदी की वृद्धि हो सकती है: गोल्डमैन सैश

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
There were fewer than 450 cases in Bihar at the beginning of May, but as migrants started migrating after the relaxation of lockdown restrictions from May 4, the cases in Bihar have started increasing rapidly. Most of the new cases found in the state are those people who were returning to their hometowns from their work areas in other parts of the country. Currently, migrant workers in Coronavirus positive in Bihar have more than half the average.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more