• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मुजफ्फरनगर रेल हादसा: लापरवाही ने ले ली 23 लोगों की जान, क्या करेंगे प्रभु?

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। मुजफ्फरनगर रेल हादसे ने एक बार फिर से रेल मंत्रालय की लापरवाही की सारी परतें खोल दी हैं। कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस के 14 डिब्बों के पटरी से उतरने की वजह से अभी तक 23 लोग अनचाही मौत की नींद का शिकार हो चुके हैं और अभी भी 97 लोग घायल हैं, जिनमें से 26 की हालत काफी गंभीर है।

 मुजफ्फरनगर रेल हादसा- पीड़ित लोगों की मदद के लिए आगे आया एक शख्स मुजफ्फरनगर रेल हादसा- पीड़ित लोगों की मदद के लिए आगे आया एक शख्स

गौरतलब है कि यह ट्रेन पुरी से हरिद्वार जा रही थी। ट्रेन को रात 9 बजे हरिद्वार पहुंचना था लेकिन पहुंचने से पहले ही शनिवार शाम 5 बजकर 46 मिनट पर ये हादसा हो गया। लगभग 30 से ज्यादा ऐंबुलेंस की मदद से घायलों को इलाज के लिए खतौली अस्पताल ले जाया गया। पटरी से उतरे डिब्बे ट्रैक के पास बने मकानों और स्कूल इमारत में घुस गए।

हादसे के पीछे केवल लापरवाही

हादसे के पीछे केवल लापरवाही

इसके बाद जो बयान यूपी के गृह विभाग के प्रधान सचिव अरविंद कुमार का आया है उसने ये पूरी तरह से जता दिया कि इस हादसे के पीछे केवल लापरवाही है क्योंकि अरविंद कुमार ने कहा कि ट्रैक पर अनाधिकारिक मरम्मत का काम चल रहा था, जिसके बारे में सूचना देने में ढिलाई बरती गई।

क्या करेंगे सुरेश प्रभु?

क्या करेंगे सुरेश प्रभु?

जिसके बाद ये सवाल सबके जेहन में घूम रहा है कि आखिर ऐसा क्यों हुआ और क्या इसके लिए दोषियों को सजा मिलेगी, जिन्होंने यात्रियों की जान से खिलवाड़ किया है। क्या सुरेश प्रभु केवल महकमे के बीच संवाद की कमी को कारण बताकर पलड़ा झाड़ देंगे या फिर इस मामले को अंजाम देने वाले अधिकारियों औऱ कर्मचारियों को सजा भी देंगे।

रिपेयर वर्क के बारे में जानकारी नहीं थी

आपको बता दें कि प्रिंसिपल सेक्रटरी के अनुसार ट्रैक पर रिपेयर वर्क की ड्राइवर को जानकारी नहीं थी और अचानक ब्रेक लगाए जाने के चलते ट्रेन पटरी से ही उतर गई। उन्होंने कहा कि मरम्मत के काम में जुटी टीम को रिपेयर वर्क के बारे में जानकारी देनी चाहिए थी।

PM मोदी ने घटना पर दुख जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खतौली रेल हादसे पर दुख जताते हुए कहा कि यूपी सरकार और रेल मंत्रालय सभी जरूरी मदद मुहैया कराने में जुटे हैं, उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

मुआवजे की घोषणा

हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों और घायलों के लिए सरकार ने मुआवजे की घोषणा की है। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने मारे गए लोगों के लिए 5 लाख और रेल मंत्रालय ने 3.5 लाख के मुआवजे की का ऐलान किया है, वहीं घायलों को 50 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

English summary
Negligence led to the horrific train accident at Muzzafarnagar in Uttar Pradesh in which 23 persons died. The track was under repair, but the driver of the train was not informed about the same.Why Suresh POrabhu asked people.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X