• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बदायूं गैंगरेप केस: महिला आयोग की सदस्य का विवादित बयान, बोलीं-महिला को शाम में नहीं जाना चाहिए था

|
Google Oneindia News

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश(UP) के बदायूं में गैंगरेप घटना (Badaun gangrape case) ने लोगों को अंदर तक हिलाकर रख दिया है। राष्ट्रीय महिला आयोग (National Commission for Women) की सदस्य चंद्रमुखी देवी (NCW member Chandramukhi ) बदायूं (Badaun) में पीड़ित परिवार से मिलने पहुंची। उन्‍होंने पीड़िता के परिवार से मुलाकात से पहले एसएसपी के साथ बैठक कर पूरे मामले की जानकारी ली। इस बीच चंद्रमुखी देवी ने रेप को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि, किसी के प्रभाव में महिला को कहीं नहीं जाना चाहिये और शाम को तो बिल्कुल नहीं।

NCW member Chandramukhi says incident could have been avoided if woman hadnt stepped out in evening
    Badaun Case: Victim के बेटे ने बताया-कैसे शव फेंककर भाग गए थे दरिंदे | वनइंडिया हिंदी

    राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी ने कहा, यह घटना सुनियोजित थी। महिला को फोन करके बुलाया गया था। अगर महिला शाम के समय नहीं जाती या परिवार के किसी बच्चे को साथ ले जाती तो ऐसा नहीं होता। चंद्रमुखी देवी के इस बयान से विवाद खड़ा हो गया है। कई लोगों ने इसकी निंदा की है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी अपने सहयोगी सदस्य चंद्रमुखी देवी के बयान से असहमति जताई हैं।

    उन्‍होंने कहा कि पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही हुई है। जिसकी वजह से महिला के साथ दरिंदगी हुई है। अगर पुलिस चाहती तो घटना व महिला की जान बच सकती थी। उघेती की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है, जिसमें हम पुलिस की कार्यवाही से संतुष्ट नहीं हैं। कहा कि अगर पुलिस चाहती तो महिला की जान बच सकती थी और घटना होने से भी बच सकती थी लेकिन पुलिस हादसा दिखाने के लिए लीपापोती करती रही।

    चंद्रमुखी देवी ने कहा कि सीएम योगी आदित्‍यनाथ शुरू से ऐसी घटनाओं के सख्‍त खिलाफ हैं। हमें विश्वास है कि दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं को लेकर सरकार तो गंभीर है। मिशन शक्ति जैसे अभियान भी चल रहे हैं मगर इसका इन दरिंदों पर कोई असर नहीं है। भले ही ऐसे मामलों में कार्रवाई होती है मगर फिर भी घटनाओं पर अंकुश नहीं लग रहा है।

    रांचीः 8 जनवरी को होगी लालू प्रसाद यादव के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले की सुनवाईरांचीः 8 जनवरी को होगी लालू प्रसाद यादव के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले की सुनवाई

    English summary
    NCW member Chandramukhi says incident could have been avoided if woman hadn't stepped out in evening
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X