• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मुंबई के बीचोंबीच शहर में चलती थी सबसे बड़ी ड्रग्स फैक्ट्री, दाऊद का करीबी करता था 70 फीसदी सप्लाई

|

मुंबई। नारकोटिस्क कंट्रोल ब्यूरो को बुधवार को बड़ी सफलता हाथ लगी थी। एनसीबी ने मुंबई में एक बड़े ड्रग्स माफिया की ड्रग्स फैक्ट्री पर छापा मारा था। एनसीबी को यहां से बड़ी मात्रा में ड्रग्स, करोड़ो रुपए नगद व हथियार मिले थे। इस ऑपरेशन को एनसीबी ने बुधवार की सुबहर शुरू किया था जोकि गुरुवार तक चला। यह ड्रग्स फैक्ट्री जहां एनसीबी की टीम ने छापा मार वह साउथ मुंबई में स्थित है। रिपोर्ट के अनुसार यह फैक्ट्री मेफड्रोन बनाने का काम करती थी। साथ ही यहां से बड़ी मात्रा में तैयार फिनिश्ड ड्रग्स और ड्रग्स का कच्चा माल बरामद किया गया है।

dawood

अबतक की सबसे बड़ी रेड

साउथ मुंबई केडोंगरी इलाके में यह फैक्ट्री चलाई जा रही थी, जिसे अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की मजबूत पकड़ वाला क्षेत्र माना जाता है। दाऊद के साथी और उसकी गैंग के सदस्य अभी भी यहां से अवैध गैरकानूनी काम करते हैं। इस फैक्ट्री को गैंगस्टर और ड्रग्स माफिया चिंकू पठान उर्फ परवेज खान के साथी चलाते थे। एनसीबी के अधिकारियों ने यहां मौके से बड़ी मात्रा में हथियार और करोड़ रुपए की नगदी भी बरामद की है।

70 फीसदी सप्लाई चिंकू पठान की

इंडिया टीवी की रिपोर्ट के अनुसार पठान को मुंबई का सबसे बड़ा ड्रग माफिया माना जाता है और ये भी दाऊद इब्राहिम की की गैंग का आदमी है। पठान मुंबई और मएमएमआर क्षेत्र में तकरीबन 70 फीसदी मेफ्रोडोन की सप्लाई करता है। इस फैक्ट्री के तार अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट से भी जुड़े हैं जोकि अपने क्लाइंट्स को विदेश में भी सप्लाई करती है। एनसीबी के सूत्रों का कहना है कि यह अबतक की सबसे बड़ी ड्रग्स रेड है जहां इतनी बड़ी मात्रा में ड्रग्स और हथियार व कैश बरामद किया गया है।

दाऊद का करीबी है चिंकू पठान

बता दें कि चिंकू पठान पूर्व अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला का रिश्तेदार है। वह दाऊद की गैंग का भी करीबी है। चिंकू कई लैब चलाता है जहां पर एक्सपर्ट की मदद से मेफ्रोडोन ड्रग्स को तैयार किया जाता है। इसके बाद वह इस मेफ्रोडोन को अन्य निर्माताओं को देता है और यहं से ड्रग्स तैयार होकर मुंबई की गलियों व अन्य इलाकों में पहुंचती है। एनसीबी के जोनल डायरेक्टरर समीर वानखेड़े इस छापेमारी के बाद इससे जुड़े अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी कर रहे हैं जोकि साउथ मुंबई में ही स्थित हैं। चिंकू पठान का नाम सड़कों पर ड्रग्स बेचने वाले जुनैद शेख ने पुलिस से पूछताछ के दौरान लिया था। जुनैद को पिछले महीने ही पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद से ही पुलिस परवेज खान की तलाश कर रही थी।

मुंबई पुलिस की नाक के नीचे चलता कारोबार

चिंकू पठान को बीती रात गिरफ्तार किया गया है। चिंकू से पूछताछ के बाद पुलिस को कई अन्य ड्रग्स पेडलर की जानकारी मिली है। लेकिन इन सब के बीच सवाल यह उठता है कि मुंबई के बीचो बीच शहर में इतनी बड़ी ड्रग्स फैक्ट्री इतने दिनों से चल रही थी और मुंबई पुलिस को इसकी खबर नहीं थी। माना जा रहा है कि इस पूरे मामले में पुलिस की मिलीभगत हो सकती है। गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद मुंबई ड्रग्स रैकेट की बात सामने आई और एनसीबी बॉलीवुड में ड्रग्स कनेक्शन की जांच कर रही है। कई अभिनेताओं और बॉलीवुड की हस्तियों से ड्रग्स को लेकर पूछताछ भी हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें- Sandalwood drugs case: एक्ट्रेस रागिनी द्विवेदी को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत, जानें क्या है पूरा मामला

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
NCB busts drug cartel in Mumbai Dawood Ibrahim aide supplies 70 percent of drug.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X