• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

विंता नंदा रेप मामला: आलोक नाथ की अग्रिम जमानत याचिका पर 26 दिसंबर तक फैसला सुरक्षित

|

नई दिल्ली। मीटू मुहीम के दौरान सामने आए राइटर विंता नंदा के साथ रेप का मामला सामने आया था। अब इस मामले में आरोपी एक्टर आलोक नाथ द्वारा अग्रिम जमानत की याचिका पर फैसले को मुंबई की सेशन कोर्ट ने 26 दिसंबर तक के लिए सुरक्षित रख लिया है। दरअसल विंता नंदा ने धारा 376 के तहत आलोक नाथ करे खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसके खिलाफ आलोक नाथ कोर्ट गए और विंता पर मानहानि का केस कर दिया। आलोक नाथ ने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए विंता से लिखित माफी और महल 1 रुपये का मुआवजा देने को कहा है।

mumbai Court reserves order for 26 December on Alok Nath Petition in vinta nanda rape case

इसपर विंता की ओर से उनके वकील का बयान आया था कि मेरी क्लाइंट किसी मानहानि के केस या धमकी से डरने वाली नहीं हैं। बता दें हाल ही में मीटू मुहीम के तहत इस तरह के कई मामले सामने आए थे जिसमें कई बड़ी हस्तियों पर यौन शोषण के आरोप लगे थे। इसी कड़ी में विंता ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए आलोक नाथ पर उनके साथ बलात्कार करने का आरोप लगाया और फिर मामला बढ़ता गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि एक पार्टी के बाद उन्हें घर ड्ऱॉप करने के बहाने आलोक ने न सिर्फ उनके साथ बलात्कार किया बल्कि उनके के साथ बुरी तरह से मारपीट भी की गई। जब ये बात उन्होंने अपने दोस्तों को बताई को उन लोगों उन्हें सब भुला कर आगे बढ़ने की सलाह दी जिस वजह से वह चुप रह गईं।

अदिति राव हैदरी ने शेयर किया MeToo एक्सपीरियंस, बताया- कॉम्प्रोमाइज करने को कहा गया, जानिए और क्‍या

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
mumbai Court reserves order for 26 December on Alok Nath Petition in vinta nanda rape case
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X