• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'मैं औरतों के खिलाफ नहीं हूं' VIDEO जारी कर मुकेश खन्ना बोले- खुद देख लीजिए, जब शरारती तत्व शरारत पर उतर आते हैं तो...

|

नई दिल्ली। दिग्गज अभिनेता मुकेश खन्ना मीटू और कामकाजी महिलाओं पर दिए अपने बयान के कारण बीते कुछ दिनों से काफी आलोचना झेल रहे हैं। जिसके बाद उन्होंने ये सफाई भी दी कि मैं ना तो महिलाओं की नौकरी के विरोध में हूं और ना ही कामकाजी महिलाओं के खिलाफ हूं। उन्होंने ये भी कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है ताकि उन्हें बदनाम किया जा सके। इसके बाद भी मुकेश खन्ना की आलोचना जारी रही, जिसके चलते उन्होंने अब एक वीडियो जारी किया है।

'मुझपर गंभीर आरोप लगाने की हिमाकत की'

'मुझपर गंभीर आरोप लगाने की हिमाकत की'

अपने इस वीडियो के कैप्शन में उन्होंने लिखा है, 'मुकेश खन्ना नारियों के खिलाफ है ये गंभीर आरोप मुझपर लगाने की काफी लोगों ने हिमाकत की। मैंने अपना पक्ष रखने और सत्य को सामने लाने के लिए अपने सोशल अकाउंट्स पर पोस्ट्स किए। आप सभी ने मेरा समर्थन किया। उसका तहे दिल से शुक्रिया। यही बात मैंने कैमरे के सामने आकर अपने यूट्यूब चैनल के एक वीडियो में कही। आपसे शेयर करना चाहता हूं। आपको बात और अच्छी तरह से समझ में आ जाएगी कि शरारती तत्व जब शरारत पर उतर आते हैं तो किस हद तक जा सकते हैं। खुद देख लीजिए।'

'ये घिनौना इल्जाम किसी ने डालने की कोशिश की'

'ये घिनौना इल्जाम किसी ने डालने की कोशिश की'

इस वीडियो में उन्होंने कहा है, मुझपर जो आरोप लगे उनसे मुझे केवल बुरा नहीं लगा बल्कि मैं आहत हुआ हूं। मैंने 40 साल फिल्म इंडस्ट्री में जो इज्जत कमाई है, उसके ऊपर ये घिनौना इल्जाम किसी ने डालने की कोशिश की है। मुकेश खन्ना कहते हैं कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए, इससे मीटू शुरू हो जाता है। मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा था। कल मैंने अपने पोस्ट में ये बातें कही थीं। एक 8 मिनट 8 सेकेंड के वीडियो में से 45 सेकेंड के क्लिपिंग को निकाला गया है। मैंने बहुतों के खिलाफ बोला है, फिल्म इंडस्ट्री, ड्रग्स और लक्ष्मी बॉम्ब के खिलाफ बोला है। तो किसी ने बोला कि आपके खिलाफ साजिश है और आपको बदनाम करने की कोशिश हो रही है। अरे 45 सेकेंड के आगे और पीछे का तो देखिए।

'मैंने भी औरतों के साथ काम किया है'

'मैंने भी औरतों के साथ काम किया है'

मुकेश खन्ना ने वीडियो में आगे कहा, मैं क्यों कहूंगा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैंने भी औरतों के साथ काम किया है। आप रक्षा मंत्री, वित्त मंत्री, विदेश मंत्री की बात कह दो। सब जगह औरतों ने अपना परचम लहराया है तो फिर मैं ये कैसे कह सकता हूं कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैंने बस इतना कहा था कि मीटू कहां से शुरू होता है और क्यों शुरू होता है। तो क्यों केवल उस 45 सेकेंड की बात हो रही है। मुझे कहा गया कि मैं सिक हूं। मैंने दहेज को लेकर भी कहा, ये किसी ने नहीं बताया। क्राइम है फिर भी लोग देते हैं। मैंने औरतों की सुरक्षा और इज्जत के बारे में इतनी बातें कहीं, वो नहीं बताया गया। सिर्फ ये बताया गया जो मेरे मुह से निकल गया होगा कि मर्द मर्द होता है और औरत औरत होती है। औरत को बच्चों को संभालना चाहिए, मर्द का काम है कमाई करके घर संभालना।

'मुझे ऐसे इल्जामों से दुख होता है'

'मुझे ऐसे इल्जामों से दुख होता है'

इस वीडियो में अभिनेता ने कहा, मुझे ऐसे इल्जामों से दुख होता है। मैंने औरतों के खिलाफ होते अत्याचारों और शिक्षा पर भी बोला है। मैं सबसे कहना चाहूंगा कि अगर कोई मेरी बातों को तोड़ मरोड़कर आप तक पहुंचाने की कोशिश कर रहा है तो आप अपनी तरफ से विश्लेषण कीजिए कि क्या मुकेश खन्ना ऐसा बोल सकता है। जितने खान ब्रदर्स मशहूर हैं हिंदुस्तान में, उतना ही मुकेश खन्ना भी जाना जाता है। लेकिन जब गलत होता है, कोई बुरा करने की कोशिश करता है तो मैं बोलता हूं। अगर कोई इंडस्ट्री में गलत काम करता है तो मैं अगर उसे बेनकाब करता हूं तो मैं लाइमलाइट के लिए ऐसा नहीं करता। मैं इसलिए बोल रहा हूं क्योंकि बोलना जरूरी है।

'महिलाओं की नौकरी' पर मुकेश खन्ना ने ऐसा क्या बोला कि होने लगी आलोचना, अब सफाई में एक्टर ने कही ये बात

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
mukesh khanna said i am not against women they trying to discredit me watch whole video here
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X